Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शिवपाल यादव ने रामगोपाल के भांजे को दिखाया बाहर का रास्ता

अरविंद मैनपुरी से विधान परिषद सदस्य हैं। उन्हें इसी साल एमएलसी बनाया गया था।

शिवपाल यादव ने रामगोपाल के भांजे को दिखाया बाहर का रास्ता
नई दिल्ली. सामजवादी पार्टी में अभी पर्दे के पीछे घमासाम जारी है। चाचा-भीतीजे के बाद भाई-भाई के बीच जंग छिड़ गई है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद शिवपाल यादव ने अपनी तलवार चलानी शुरू कर दी है। रविवार की शाम ऐलान किया गया कि रामगोपाल यादव के भांजे और विधान परिषद सदस्य अरविंद यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।
पार्टी की तरफ से जारी किए गए प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के विरोध में असम्मानजनक एवं अमर्यादित टिप्पणियां करने, पार्टी विरोधी कार्यो में लिप्त रहने तथा अनुशासनहीन आचरण के कारण समाजवादी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।
पार्टी से निकाले जाने के बाद अरविंद यादव ने कैमरे पर आकर कोई बयान देने से तो मना कर दिया लेकिन इतना जरूर कहा कि उनके ऊपर जो आरोप लगे हैं वह गलत हैं। अरविंद यादव रामगोपाल यादव की बहन गीता देवी के बेटे हैं और विधान परिषद का सदस्य बनने से पहले मैनपुरी के करहल ब्लॉक में ब्लाक प्रमुख चुने गए थे। सूत्रों के मुताबिक अरविंद यादव पर जमीनों पर कब्जे और अवैध शराब के कारोबार का भी आरोप है।
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, अरविंद मैनपुरी से विधान परिषद सदस्य हैं। उन्हें इसी साल एमएलसी बनाया गया था। उधर, फिरोजाबाद से सांसद और रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अरविंद पर गलत कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने मेरे पिता पर टिप्पणी की है वे याद रखें कि उनका भी सम्मान है और अरविंद सैफई परिवार के सदस्य हैं। वह इस मामले को मुलायम सिंह के सामने उठाना चाहते हैं। इससे पहले रविवार दोपहर 12 बजे शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार संभाल लिया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top