Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शिवपाल-अमर सिंह बर्खास्त, अखिलेश बने SP के अध्यक्ष

मुलायम सिंह यादव ने भी सपा संसदीय दल की बैठक बुलाई है।

शिवपाल-अमर सिंह बर्खास्त, अखिलेश बने SP के अध्यक्ष
X
लखनऊ. समाजवादी पार्टी में चल रहे घमासान के बाद लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में रागोपाल यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर दिया। रामगोपाल ने कहा कि मुलायम सिंह अब पार्टी का मार्गदर्शन करेंगे। इस अधिवेशन में शिवपाल यादव को भी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने और अमर सिंह के निष्कासन का भी प्रस्ताव रखा गया। बाद में इस प्रस्ताव को पास कर शिवपाल यादव से प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी वापस ले ली गई और अमर सिंह को बर्खास्त कर दिया गया।

नेताजी का सम्मान और स्थान सर्वोच्च है
इस मौके पर अखिलेश ने कहा कि कुछ लोग समाजवादी पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे थे। कुछ लोग नेताजी को गलत दिशा में ले जाने की कोशिश में लगे हैं। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि मेरा नेताजी से रिश्ता कोई खत्म नहीं कर सकता, पार्टी, परिवार बचाने के लिए सभी जिम्मेदारी निभाऊंगा। नेताजी का सम्मान और स्थान सर्वोच्च है। कुछ ताकतें ऐसी हैं जो चाहती हैं की सरकार ना बने, दोबारा सरकार बनने पर सबसे ज्यादा नेताजी खुश होंगे। नेताजी के खिलाफ साजिश करने वालों के खिलाफ हूं। नेताजी एक बार भी कहते तो में अपने पद से हट जाता।

अखिलेश ने मनवाई सारी बात

वहीं दूसरी तरफ मुलायम सिंह यादव ने भी सपा संसदीय दल की बैठक बुलाई है। दिलचस्प बात यह है कि मुलायम सिंह यादव ने इस अधिवेशन को असंवैधानिक करार दिया था। मुलायम का कहना था कि इसका अधिकार सिर्फ अध्यक्ष को है. हालांकि, शक्ति परीक्षण में अखिलेश की तरफ पलड़ा झुकने के बाद मुलायम को अपना फैसला वापस लेना पड़ा। अखिलेश ने सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को अधिवेशन में आने को कहा है। अखिलेश ने साबित कर दिया कि अब वो ही समाजवादी पार्टी हैं, इसलिए वो अपनी सभी बात मनवाने में सफल रहे हैं। अब अखिलेश ये चाहेंगे कि संगठन में उन्हें बड़ा पद मिले।

अखिलेश की हुई वापसी
सूत्रों की माने तो वो राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद भी हो सकता है। सपा लगातार ये कह रही है कि वो राज्य की 403 विधानसभा सीटों पर चुनाव लडने को तैयार है। अखिलेश ने साफ किया है कि राष्ट्रीय अधिवेशन कोई कार्यकर्ता सम्मेलन नहीं है। इसमें राज्य की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा होगी। आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की ओर से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव की पार्टी में वापसी के ऐलान के बाद लगा कि यह झगड़ा खत्म हो गया है, लेकिन कुछ मांगों को लेकर अखिलेश खेमा अब भी अड़ा हुआ है।
आपको बता दें, इससे पहले अमर सिंह ने अपने आपको पाक-साफ बताते हुए सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से कहा कि वह उन्हें जीने के लिए उनके हाल पर छोड़ दें और लोगों को सच बताएं। दरअसल, समाजवादी पार्टी के अंदर हो रही कलह के लिए अमर सिंह को जिम्मेदार ठहराया जाता रहा है। उस पर ही अमर सिंह ने अब सफाई दी है। रविवार (1 जनवरी) को अमर सिंह ने कहा कि कुछ लोग गंदे पोस्टर्स मेरे नाम पे लगा रहे हैं, मेरे पुतले जला रहे हैं। कुछ लोग मुझे इतना ताकतवर बता रहे हैं कि मैं दुनिया में किसी कोने में रहूं फिर भी बहुत बड़े शासन में उथल-पुथल करा सकता हूं। लोग मुझे समाजवादी पार्टी में हुई कलह के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मुझे जीने दें। अगर मैं इसका कारण बताया जा रहा हूं तो मुलायम मेरा बलिदान करें, मुझे छुट्टी दें, मुझे माफ करें, अनावश्यक रूप से मुझे कलह का कारण बता के खलनायक बनाने की कोशिश से मुझे बचाएं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story