Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाजार ने पकड़ी रफ्तार, सेंसेक्स 293 अंक उछलकर 35 हजार के पार

वैश्विक स्तर पर मिले-जुले रुख के बीच कंपनियों के तिमाही परिणाम बेहतर रहने की उम्मीद तथा हाल में गिरावट वाले शेयरों की लिवाली से बंबई शेयर बाजार का मानक सूचकांक आज 35,000 अंक के ऊपर पहुंच गया।

बाजार ने पकड़ी रफ्तार, सेंसेक्स 293 अंक उछलकर 35 हजार के पार
X

वैश्विक स्तर पर मिले-जुले रुख के बीच कंपनियों के तिमाही परिणाम बेहतर रहने की उम्मीद तथा हाल में गिरावट वाले शेयरों की लिवाली से बंबई शेयर बाजार का मानक सूचकांक आज 35,000 अंक के ऊपर पहुंच गया।

कारोबारियों के अनुसार घरेलू संस्थागत निवेशकों की ताजा लिवाली तथा कुछ प्रमुख कंपनियों के तिमाही परिणाम बेहतर रहने की उम्मीद से बाजार में तेजी आयी। तीस शेयरों वाला बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स बढ़त के साथ 34,983.59 अंक पर खुला और 35,259.81 से 34,977.74 अंक के दायरे में रहा।

यह भी पढ़ें- सिद्धारमैया ने पीएम मोदी, अमित शाह और भाजपा को भेजा आपराधिक मानहानि का नोटिस

अंत में यह 292.76 अंक या 0.84 प्रतिशत की तेजी के साथ 35,208.14 अंक पर बंद हुआ। एक फरवरी 2018 के बाद सेंसेक्स का उच्चतम स्तर है। उस समय यह 35,906.66 अंक पर बंद हुआ था।

पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 261.04 अंक नीचे आया था

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 97.25 अंक या 0.92 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,715.50 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,725.65 से 10,635.35 अंक के दायरे में रहा।

इस बीच, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,084.09 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे जबकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को 1,628.23 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य बाजार रणनीतिकार आनंद जेम्स ने कहा कि शुक्रवार को वाल स्ट्रीट में तेजी से घरेलू धारणा को बल मिला।

अमेरिका में रोजगार के कमजोर आंकड़े से फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर में वृद्धि की संभावना कम हुई है, एफआईआई की लिवाली से बाजार पर असर पड़ा लेकिन कंपनियों के तिमाही नतीजे बेहतर रहने की उम्मीद से गति को बल मिला। तेल की कीमतों में लगातार तेजी से बाजार में तेजी पर अंकुश लग रहा है।

सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा सर्वाधिक 3.68 प्रतिशत मजबूत हुआ। उसके बाद एक्सिस बैंक का स्थान रहा जो 2.82 प्रतिशत चड़ा। परिणाम आने से पहले आईसीआईसीआई बैंक 2.30 प्रतिशत मजबूत हुआ।

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री कैसे चौकीदार हैं, नीरव और माल्या को देश से भागने दिया: सिद्धारमैया

लाभ में रहने वाले अन्य प्रमुख शेयरों में टाटा स्टील 2.52 प्रतिशत, एचयूएल 1.91 प्रतिशत, एसबीआई 1.88 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 1.88 प्रतिशत, ओएनजीसी 1.83 प्रतिशत, आईटीसी 1.59 प्रतिशत तथा एशियन पेंट्स 1.56 प्रतिशत शामिल हैं।

वहीं दूसरी तरफ डा. रेड्डीज 1.75 प्रतिशत, कोल इंडिया 1.64 प्रतिशत, टीसीएस 1.53 प्रतिशत, सन फार्मा ण्क प्रतिशत, एचडीएफसी 0.55 प्रतिशत, हीरो मोटोकार्प 0.27 प्रतिशत तथा एनटीपीसी 0.15 प्रतिशत नीचे आये। फाइजर के मार्च तिमाही के वित्तीय नतीजे आने से पहले यह 52 सप्ताह के उच्च स्तर पर पहुंच गया।

रूचि सोया भी 7.90 प्रतिशत मजबूत हुआ। कर्ज में डूबी कपनी के अधिग्रहण की खबर से कंपनी का शेयर मजबूत हुआ। इस बीच, वैश्विक स्तर पर तेल का दाम नवंबर 2014 के बाद उच्चतम स्तर पर पहुंच गया।

वेनेजुएला में आर्थिक संकट गहराने तथा ईरान के खिलाफ अमेरिका द्वारा फिर से पाबंदी लगाने को लेकर अनिश्चितता से तेल के दाम पर प्रभाव पड़ा। ब्रेंट क्रूड वायदा भाव 62 सेंट बढ़कर 75.49 डालर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

इस बीच, गेल, आल इंडिया, आईओसी, बीपीसीएल तथा एचपीसीएल समेत अधिकत तेल एवं गैस कंपनियों के शेयर चमक में रहे। वैश्विक स्तर पर एशिया के अन्य बाजारों में मिला-जुला रुख रहा।

हांगकांग का हैंगसेंग 0.22 प्रतिशत तथा शंघाई कंपोजिट सूचकांक 1.48 प्रतिशत मजबूत हुए जबकि जापान निक्केई 0.03 प्रतिशत नीचे आया। यूरोप में शुरूआती कारोबार में फ्रैंकफर्ट का डीएएक्स 0.36 प्रतिशत तथा पेरिस का बाजार 0.09 प्रतिशत मजबूत हुए।

इनपुट भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story