Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आरजेडी के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन 11 साल बाद जेल से रिहा

शहाबुद्दीन भागलपुर जेल में बंद थे।

आरजेडी के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन 11 साल बाद जेल से रिहा
X
पटना. हत्या समेत कई मामलों में जेल में बंद आरजेडी के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन शनिवार को जेल से रिहा हो गए। पटना हाई कोर्ट ने शहाबुद्दीन को बड़ी राहत देते हुए गवाह राजीव रौशन की हत्या के मामले में जमानत दी थी। शहाबुद्दीन भागलपुर जेल में बंद थे। रिहाई के तुरंत बाद जेल के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, 'हम सभी को पता है कि मुझे फंसाया गया था। लेकिन कोर्ट ने मुझे जेल भेजा था और आज उसी ने मुझे रिहा किया है।'
उनकी रिहाई के पीछे किसी तरह की राजनीति होने के सवाल पर शहाबुद्दीन ने कहा, 'इसका राजनीति से कुछ नहीं लेना देना है। कोर्ट स्वतंत्र है फैसले लेने के लिए।' वहीं अपनी बाहुबली छवि बदलने के सवाल पर उन्होंने कहा, 'मैं अपनी छवि क्यों बदलूं? लोगों ने हमेशा मुझे इसी तरह स्वीकार किया है, जैसा मैं पिछले 26 सालों से हूं।'
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, इससे पहले पटना हाई कोर्ट में रिहाई पर बहस के दौरान शहाबुद्दीन के वकील ने कोर्ट को बताया कि जब राजीव की हत्या की गई थी, तब आरजेडी नेता जेल में बंद थे। गौरतलब है कि वर्ष 2004 में राजीव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में मृतक राजीव रौशन के पिता चन्द्रकेश्वर प्रसाद के बयान पर पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के साथ उनके बेटे ओसामा के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।
16 अगस्त, 2004 को सीवान के व्यवसायी चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू के बेटों गिरीश, सतीश और राजीव का अपहरण किया गया था। गिरीश और सतीश की तेजाब डालकर हत्या कर दी गई थी, जबकि राजीव उनके चंगुल से भाग निकलने में कामयाब रहा था। इस मामले में गिरीश की मां कलावती देवी के बयान पर सीवान के थाने में मामला दर्ज किया गया था। हत्याकांड के गवाह और मृतकों के भाई राजीव ने अदालत को बताया था कि वारदात के समय पूर्व सांसद शहाबुद्दीन खुद वहां उपस्थित थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट
पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story