Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शेयर बाजार में 4 दिन की तेजी का सिलसिला थमा, सेंसेक्स 73 अंक टूटा

बंबई शेयर बाजार में चार दिन से जारी तेजी का सिलसिला आज थम गया तथा सेंसेक्स 73 अंक टूटकर 35,103.14 अंक पर आ गया।

शेयर बाजार में 4 दिन की तेजी का सिलसिला थमा, सेंसेक्स 73 अंक टूटा
X

बंबई शेयर बाजार में चार दिन से जारी तेजी का सिलसिला आज थम गया तथा सेंसेक्स 73 अंक टूटकर 35,103.14 अंक पर आ गया। चीन और अमेरिका के बीच व्यापार विवाद को लेकर बातचीत को लेकर बहुत अधिक उम्मीद नहीं है। इसी चिंता में वैश्विक बाजारों में गिरावट का रुख रहा जिसका असर यहां भी पड़ा।

ब्रोकरों ने कहा कि विदेशी कोषों की सतत निकासी तथा इंटरग्लोब एविएशन तथा कुछ अन्य कंपनियों के उम्मीद से कमजोर तिमाही नतीजों से भी निवेशकों ने सतर्कता बरती। बीजिंग में अमेरिका और चीन के अधिकारियों की बातचीत हो रही है जिसमें व्यापार विवाद का हल निकालने का प्रयास किया जा रहा है। विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि जैसे को तैसा व्यापार युद्ध का जल्दी समाधान निकलने की उम्मीद नहीं है।

यह भी पढ़ें- केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से SC-ST कानून संबंधी फैसले पर रोक की अपील

रीयल्टी, पूंजीगत सामान, आईटी, प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचा, एफएमसीजी, टिकाऊ उपभोक्ता सामान, तेल एवं गैस तथा वाहन कंपनियों के शेयरों में बिकवाली का सिलसिला चला। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मजबूत रुख के साथ खुला लेकिन यह जल्द नकारात्मक दायरे में आ गया। एक समय सेंसेक्स 35,020.08 अंक के निचले स्तर तक आने के बाद अंत में 73.28 अंक या 0.21 प्रतिशत के नुकसान से 35,103.14 अंक पर बंद हुआ।

पिछले चार सत्रों में सेंसेक्स 675.15 अंक चढ़ा था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,700 अंक के स्तर से नीचे आया और अंत में 38.40 अंक या 0.36 प्रतिशत के नुकसान से 10,679.65 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,720.60 से 10,647.45 अंक के दायरे में रहा। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक कल शुद्ध रूप से 525.93 करोड़ रुपये के बिकवाल रहे।

यह भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018: केंगेरी में गरजे पीएम मोदी, कांग्रेस पर लगाए ये बड़े आरोप

जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 165.84 करोड़ रुपये की शुद्ध लिवाली की। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा , ‘‘ अमेरिका और चीन के बीच बातचीत शुरू होने के साथ वैश्विक बाजारों में कमजोरी का रुख रहा। घरेलू मोर्चे पर कंपनियों के तिमाही नतीजे तथा कर्नाटक विधानसभा चुनाव निकट भविष्य में बाजार की दिशा तय करेगा।

सेंसेक्स की कंपनियों में विप्रो का शेयर सबसे अधिक 1.94 प्रतिशत टूटा। कोटक महिंद्रा बैंक में 1.90 प्रतिशत का नुकसान रहा। अन्य कंपनियों में एशियन पेंट्स, एलएंडटी, हिंदुस्तान यूनिलीवर, कोल इंडिया, इन्फोसिस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईटीसी लि., भारती एयरटेल, टाटा मोटर्स, टीसीएस, अडाणी पोर्ट्स, एचडीएफसी बैंक, यस बैंक, हीरो मोटोकार्प भी नुकसान में रहे।

यह भी पढ़ें- दलितों के घर भोजन करना 'बहुजन समाज' का अपमान: भाजपा सांसद

वहीं दूसरी ओर सनफार्मा, टाटा स्टील, एनटीपीसी, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, डॉ रेड्डीज, ओएनजीसी, पावर ग्रिड, एसबीआई और एचडीएफसी लि. के शेयर लाभ में रहे। शुरुआती कारोबार में इंटरग्लोब एविएशन का शेयर 20 प्रतिशत टूट गया था। अंत में यह 10.57 प्रतिशत नुकसान में रहा। कंपनी का मार्च तिमाही का मुनाफा 73 प्रतिशत घटा है। मिडकैप में 1.16 प्रतिशत और स्मॉलकैप में 0.84 प्रतिशत का नुकसान रहा।

एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग 1.34 प्रतिशत नीचे आया। शंघाई कम्पोजिट 0.64 प्रतिशत चढ़ गया। कुछ बाजारों में अवकाश था। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नीचे चल रहे थे।

इनपुट भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story