Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सेंसेक्स में लगातार पांचवें दिन भी गिरावट- 253 अंक लुढ़का, निफ्टी 10200 के नीचे बंद

बंबई शेयर बाजार में आज लगातार पांचवें दिन गिरावट का सिलसिला जारी रहा। सेंसेक्स 253 अंक टूटकर 33,000 अंक से नीचे आ गया।

सेंसेक्स में लगातार पांचवें दिन भी गिरावट- 253 अंक लुढ़का, निफ्टी 10200 के नीचे बंद
X

बंबई शेयर बाजार में आज लगातार पांचवें दिन गिरावट का सिलसिला जारी रहा। सेंसेक्स 253 अंक टूटकर 33,000 अंक से नीचे आ गया। कमजोर वैश्विक रुख के बीच विदेशी कोषों की निकासी से बाजार में गिरावट जारी रही।

दिसंबर तिमाही में चालू खाते का घाटा बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के दो प्रतिशत यानी 13.5 अरब डॉलर पर पहुंच गया है, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1.4 प्रतिशत था।

रिजर्व बैंक ने ये आंकड़े शुक्रवार को कारोबार बंद होने के बाद जारी किए थे जिसपर बाजार ने आज प्रतिक्रिया दी। कारोबार के दौरान रुपया भी 19 पैसे के नुकसान से 65.13 रुपए प्रति डॉलर पर चल रहा था, जिसका नकारात्मक प्रभाव पड़ा।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी! जेट एयरवेज, गोएयर और एयर एशिया में मची लूट, ये है भारी डिस्काउंट के साथ बंपर ऑफर

अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक से पहले निवेशकों से सतर्कता का रुख अपनाया। इससे वैश्विक धारणा कमजोर हुई। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 33,268.97 अंक पर मजबूत खुलने के बाद 33,275.79 अंक तक गया।

हालांकि, बाद में मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से यह 32,856.54 अंक तक नीचे आया। अंत में सेंसेक्स 252.88 अंक या 0.76 प्रतिशत के नुकसान से 32,923.12 अंक पर बंद हुआ।

यह पिछले साल छह दिसंबर के बाद सेंसेक्स का सबसे निचला स्तर है। उस दिन सेंसेक्स 32,597.18 अंक पर बंद हुआ था। पिछले चार सत्रों में सेंसेक्स 741.94 अंक नीचे आया था। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 100.90 अंक या 0.99 प्रतिशत के नुकसान से 10,094.25 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान यह 10,224.55 से 10,075.30 अंक के दायरे में रहा। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को 150.46 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 770.53 करोड़ रुपए की बिकवाली की। (भाषा)

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story