Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शनिवार को अपने बैंकों में ही जमा करा सकेंगे नोट, बुजुर्गों को छूट

वरिष्ठ नागरिक शनिवार को भी किसी भी बैंक की शाखा में अपने पुराने नोट बदलवा सकेंगे।

शनिवार को अपने बैंकों में ही जमा करा सकेंगे नोट, बुजुर्गों को छूट
नई दिल्ली. शनिवार को बैंक सिर्फ अपने ग्राहकों को सेवाएं देंगे और दूसरे बैंकों के ग्राहक 500, 1000 रुपये के पुराने नोट नहीं बदलवा सकेंगे। इंडियन बैंक्स असोसिएशन के चेयरमैन राजीव ऋषि ने बताया कि शनिवार को बैंक अपने पेंडिंग काम निपटाएंगे, लिहाजा दूसरे बैंकों के ग्राहकों को एक्सचेंज की सुविधा नहीं मिलेगी। हालांकि वरिष्ठ नागरिकों को इससे छूट दी गई है। वरिष्ठ नागरिक शनिवार को भी किसी भी बैंक की शाखा में अपने पुराने नोट बदलवा सकेंगे।
आईबीए के चेयरमैन राजीव ऋषि ने कहा, 'इन सभी दिनों हमारे ग्राहकों को परेशानी झेलनी पड़ी क्योंकि हम उनका काम नहीं कर सके। ऐसे में कई शाखाओं में हमारे मौजूदा ग्राहकों का काम अटका हुआ है। आईबीए में हमने तय किया है कि कल शनिवार को सिर्फ विशिष्ट रूप से अपने ग्राहकों के लिए काम करेंगे। शनिवार को बाहर के ग्राहकों के नोट नहीं बदले जाएंगे।'
हालांकि, इस मामले में वरिष्ठ नागरिकों को छूट दी गई है। वे किसी भी बैंक शाखा में नोट बदलवा सकते हैं। ऋषि ने कहा कि आईबीए का यह फैसला सिर्फ शनिवार के लिए है। सोमवार से सभी ग्राहकों को किसी भी बैंक शाखा से नोट बदलने की इजाजत होगी। उन्होंने बताया कि जबसे बैंकों ने ग्राहकों की उंगली पर निशान के लिए अमिट स्याही का इस्तेमाल शुरू किया है, कतारें घटने लगी हैं।
गौरतलब है कि सरकार ने पुराने नोटों के बदलने की सीमा घटाकर 2 हजार रुपये कर दी है। 8 नवंबर को जब नोटबंदी का ऐलान हुआ तब एक्सचेंज लिमिट 4 हजार रुपये थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 4,500 रुपये कर दिया गया। लोगों के बार-बार पुराने नोट बदलने की शिकायतों के बाद सरकार ने एक्सचेंज कराने वालों की उंगली पर स्याही लगाने का फैसला लिया गया और एक्सचेंज लिमिट भी 2 हजार रुपये कर दी गई।
गौरतलब है कि 8 नवंबर की रात को 500 और 1000 रुपये के नोटों के अमान्य होने का ऐलान किया गया। एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने ऐलान किया कि काले धन और टेरर फंडिंग पर लगाम लगाने के लिए ये फैसला लिया गया। लोग पुराने नोटों को जमा कर सकते हैं। आयकर विभाग उन खातों पर भी नजर रख रहा है जिनमें 8 नवंबर के बाद अचानक बड़ी मात्रा में कैश जमा किया गया है। अभी बैंकों से एक सप्ताह में अधिकतम 24 हजार रुपये निकाले जा सकते हैं, वहीं एटीएम से प्रतिदिन 2500 रुपये निकाले जा सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top