Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक: सरकारी अधिकारियों से मिला 152 करोड़ का कालाधन, जांच शुरू

इनकम टैक्स की छापेमारी के दौरान नई करंसी के 2000 के नए नोट भी मिले।

कर्नाटक: सरकारी अधिकारियों से मिला 152 करोड़ का कालाधन, जांच शुरू
X
नई दिल्ली. देश में कितना काला धन है और कहां कहां छिपा है, इसका सही अंदाजा किसी को भी नहीं है। लेकिन नोटबंदी के बाद से हर रोज देश के हर हिस्से में इतना कैश पकड़ा जा रहा है जो ये साबित करता है कि लोगों ने कितना काला धन छिपा कर रखा है। बता दें कि इनकम टैक्स अधिकारियों ने कर्नाटक में दो सरकारी अफसरों और दो कॉन्ट्रैक्टर्स के ठिकानों पर छापा मारा। यहां से 152 करोड़ की बेहिसाबी संपत्ति का पता चला है। बता दें कि इन छापों में मिली नई करंसी का आंकड़ा 5.7 करोड़ हो गया।
भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, इनकम टैक्स अफसरों ने बीते शुक्रवार छापा मार कर अब तक की सबसे ज्यादा बेहिसाबी नई करंसी मिली है। नई करंसी 2000 के नए नोटों की शक्ल में है। सीनियर इनकम टैक्स अफसर ने कहा कि छापे में मिली 5.7 करोड़ की नई करंसी नोटबंदी के बाद मिली अब तक की सबसे ज्यादा बेहिसाबी संपत्ति है।
इनकम टैक्स सूत्रों के मुताबिक पीडब्ल्यूडी के हाई-वे डेवलेपमेंट प्रोजेक्ट में चीफ प्लानिंग अफसर एससी जयचंद्र और कावेरी नारीवेरी निगम लि. के मैनेजिंग डायरेक्टर टीएन चिक्कारायप्पा के अलावा दो कॉन्ट्रैक्टर्स के कई ठिकानों पर छापे मारे गए। कर्नाटक के बेंगलुरु और तमिलनाडु के चेन्नई, इरोड में कई ठिकानों पर मारे गए छापे मारे गए। 152 करोड़ की बेहिसाबी संपत्ति का पता चला।
तो वही दूसरी तरफ आइटी और ईडी की छापेमारी और जांच जारी है। बीते शुक्रवार को बैंगलुरु में एक इंजीनियर के घर से लगभग पांच करोड़ रुपए बरामद हुए थे। इनकम टैक्स के अधिकारियों की आंखें उस समय फटी रह गईं जब उन्होंने देखा कि इसमें 4.7 करोड़ रुपये 2000 के नए नोट के हैं। वहीं 30 लाख रुपये पुरानी करंसी में हैं। ये छापा कल कर्नाटक और गोवा के दो सरकारी इंजीनियर और दो ठेकेदारों से जुड़े मामलों में पड़ा था।
बता दें कि आइटी डिपार्टमेंट के सूत्रों के मुताबिक, लगातार कैश ट्रांजेक्शन करने वाले 4 बैंकों को भी नोटिस दिया गया है। इसके अलावा तमिलनाडु के आइएएस और आइपीएस अफसरों का भी तलब किया गया है। रेड ऑपरेशन को 50 लोगों की टीम ने अंजाम दिया, इसमें आइटी डिपार्टमेंट के अफसर और पुलिसवाले शामिल थे।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story