Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इस दीवाली बेहद सावधानी से करें ऑनलाइन शॉपिंग

डेटा चोरी होने के नए मामले अभी नहीं आ रहे हैं

इस दीवाली बेहद सावधानी से करें ऑनलाइन शॉपिंग
नई दिल्ली. अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो सावधान हो जाइए, हो सकता है कि वेब दुनिया में आपके द्वारा की जा रही खरीदारी पर हैकरों की नजर हो। और हो सकता है कि हैकर आपके द्वारा की जा रही ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान आपके क्रेडिट कार्ड का डेटा चुरा रहे हों।
एक शोध से पता चला है कि ऑनलाइन शॉपिंग कराने वाली लगभग 6000 वेब शॉप साइटें आपके क्रेडिट कार्ड की जानकारियां चुरा कर उसका गलत उपयोग कर रही हैं। डच डेवलपर विलियम डी ग्रूट ने बताया कि आपका क्रेडिट कार्ड का कोड साइबर चोर द्वारा साइटों पर डाला जाता है।
उन्होंने जांच में पाया कि लगभग 5925 ऐसी वेब साइट हैं। उन्होंने कहा कि कुछ चोरी किए गए डेटा रूस सर्वर से भेजे गए थे। डी ग्रूट डच इ कॉर्मस साइट बाइट डॉट एनएल के सहसंस्थापक हैं। उन्होंने ब्लॉगस्पॉट में कहा कि हैकर सबसे अधिक उपयोग की जानेवाली साइटों को अपना निशाना बनाते हैं। वे जब उन वेबसाइटों में अपना रास्ता बना लेते हैं उसके बाद वे उन साइटों से आपकी क्रेडिट कार्ड और दूसरी लेनदेन की जानकारियां चुरा लेते हैं।
उन्होंने आगे कहा कि उस चोरी किए गए डेटा प्रति कार्ड 30 डॉलर के हिसाब से डार्क वेब मार्केट बेच देते हैं। उन्होंने शोध में चोरी किए गए नौ अलग-अलग कोड्स का पता लगाया, जिसमें कई अलग-अलग हैकर समूह शामिल पाए गए। डी ग्रूट ने बताया कि वे तभी से हैकरों की जांच पड़ताल में लगे थे जबसे उनके कार्ड की जानकारियां चोरी हुईं थी। अगर ग्रूट के काम पर नजर डालें तो लगता है कि उन्होंने 2015 के अंत में हैकरों की जांच की शुरुआत की, लेकिन असल में उन्होंने मई 2015 में शोध शुरू कर दिया था। उसी वर्ष के अंत तक लगभग 3500 से अधिक साइटों के बारे में पता चल गया था। उसके बाद लगातार जारी जांच में डी ग्रूट ने 18 महीनों में ऐसी 5,925 साइटों का पता लगाया। हैकरों के चंगुल में कार निर्माता, फैशन कंपनियां, सरकारी साइटें और संग्रहालय शामिल थे।
फिलहाल, डेटा चोरी होने के नए मामले अभी नहीं आ रहे हैं। क्योंकि अब स्टोर मालिक अपने सॉफ्टवेयर नियमित रूप से अपडेट कर रहे हैं। डी ग्रूट लिखते हैं कि यह एक महंगा मामला है और हर दुकानदार इसे नजरअंदाज भी कर देता है। डी ग्रूट बताते हैं कि कंपनियों की लिस्ट जारी करने के बाद कुछ स्टोर ने इसे संजीदगी से लिया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top