Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत बंद: सोशल मीडिया पर बुलाए गए बंद से हिला प्रशासन, कई शहरों में धारा 144 लागू

2 अप्रैल को हुए भारत बंद के दौरान हुए हिंसा को देखते हुए केन्द्रीय गृह मंत्रालय और राज्य सरकार ने कमर कस ली है।

भारत बंद: सोशल मीडिया पर बुलाए गए बंद से हिला प्रशासन, कई शहरों में धारा 144 लागू
X

2 अप्रैल को हुए भारत बंद के दौरान हुए हिंसा को देखते हुए केन्द्रीय गृह मंत्रालय और राज्य सरकार ने कमर कस ली है। दलित संगठनों के द्वारा बुलाए गए भारत बंद के विरोध में 10 अप्रैल को सवर्ण संगठनों ने भी भारत बंद का आह्वान किया है।

सवर्ण संगठनों द्वारा ये बंद आरक्षण के विरोध में बुलाया गया है जिसे 2 अप्रैल को दलित संगठन द्वारा बुलाए गए बंद के बाद ही सोशल मीडिया पर जोर-शोर से प्रचार-प्रसार किया गया है। सवर्णों ने दलित संगठनों के बुलाए बंद में हुए हिंसा का विरोध किया था और सरकार से आरक्षण समाप्त करने का आग्रह किया है।

यह भी पढ़ें- चंपारण में मोदी: मधेपुरा रेल इंजन कारखाना समेत कई परियोजनाओं का करेंगे अनावरण

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने इस बंद के मद्देनजर पहले से ही तैयारी करते हुए सभी राज्य सरकारों को एडवाइजरी भी जारी कर दी है। उत्तराखंड के नैनीताल में इस बंद को देखते हुए प्रशासन ने पूरे शहर में धारा 144 लगा दिया है। जिला प्रशासन ने बंद के दौरान होने वाले धरना प्रदर्शन की वजह से ये निर्णय लिया है।

वहीं उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद मे प्रशासन ने सभी पहली कक्षा से लेकर 9वीं कक्षा के स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया है। इसके अलावा मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी प्रशासन ने धारा 144 लगा दिया है।

राजस्थान की राजधानी में भी जिला प्रशासन ने सभी इलाकों में धारा 144 लगा दिया है और किसी भी तरह के धरना प्रदर्शन को रोकने के लिए हजारों की संख्यां में सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया है।

यह भी पढ़ें- एक्सिस बैंक की सीईओ शिखा शर्मा ने अपने कार्यकाल को घटाने का किया आग्रह, जानें वजह

10 अप्रैल को होने वाले चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलकाता नाइटराइडर्स के मुकाबले को शिफ्ट करने के सवाल पर आईपीएल के कमीश्नर राजीव शुक्ला ने इसे शिफ्ट करने से मना कर दिया है और कहा कि मुकाबला निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक ही कराया जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story