Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव को लेकर सीट बंटवारे का फार्मूला तैयार, LJP को मिली 6 सीटें और असम से राज्यसभा की एक सीट

बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर एनडीए में मचा विवाद अब थम जाएगा। भाजपा ने लोजपा की मांग को मान लिया है। सूत्रों के मुताबिक सीटों के बंटवार को लेकर फार्मूला तैयार कर लिया गया है।

लोकसभा चुनाव को लेकर सीट बंटवारे का फार्मूला तैयार, LJP को मिली 6 सीटें और असम से राज्यसभा की एक सीट

बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर एनडीए में मचा विवाद अब थम जाएगा। भाजपा ने लोजपा की मांग को मान लिया है। सूत्रों के मुताबिक सीटों के बंटवार को लेकर फार्मूला तैयार कर लिया गया है।

लोजपा को छह सीटें मिली हैं जबकि भाजपा और जेडीयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। इसके साथ ही भाजपा अपने कोटे से असम में रामविलास पासवान को राज्यसभा की सीट देगी। अब ऐसा लग रहा है कि सीटों के बंटवारे को लेकर मचा विवाद थम जाएगा।

बिहार में एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान लगातार भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के संपर्क में थे। अपने पुत्र चिराग पासवान के साथ रामविलास पासवान गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिले।शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की। इसके बाद नीतीश कुमार शुक्रवार को दिल्ली पहुंचे। माना जा रहा है कि भाजपा नेतृत्व ने सभी से बातकर सीट बंटवारे का फार्मूला तैयार किया और उस पर मुहर लग गई।

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राजग छोड़ देने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) की नाराजगी को लेकर उन्हें मनाने का दौर चल रहा था। इस बीच, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली पहुंचे। नीतीश के दिल्ली दौरे को लेकर जद (यू) के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी ने शुक्रवार को कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक वैवाहिक कार्यक्रम में शमिल होने दिल्ली आ रहे हैं।
मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम बहुत पहले से तय था। हालांकि, ऐसा माना जा रहा था कि वो यहां अमित शाह से मुलाकात कर सीट बंटवारे के विवाद पर विराम लगाएंगे।
जेटली के बैठक के बाद तय हुआ एनडीए में रहेगी लोजपा
2019 लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान से मुलाकात की। जेटली से मुलाकात के बाद, लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उम्मीद जताई थी कि वार्ता सही दिशा में आगे बढ़ेगी। बैठक में भाग लेने वाले चिराग के चाचा रामचंद्र पासवान ने कहा कि लोजपा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा बनी रहेगी।

लोजपा की मांग हुई पूरी
भाजपा और जद-यू ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि दोनों पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव में बराबर की सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। वहीं, लोजपा के सूत्रों ने कहा था कि पार्टी बिहार में 6 लोकसभा सीटों पर लड़ना चाहती है और राज्यसभा की एक सीट की मांग कर रही है। ऐसे में एनडीए के सीटों के बंटवारे के फार्मूले के बाद तीनों पार्टियों को अपने मन मुताबिक सीटें मिल गई हैं। उम्मीद की जा रही है कि विवाद को विराम लग जाएगा।
बीते लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बिहार में 30 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 22 पर जीत हासिल की थी, वहीं लोजपा ने 6 सीटों और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने तीन सीटों पर कब्जा जमाया था। रालोसपा अब राजद-कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा है। 2014 में जनता दल-युनाइटेड (जेडीयू) ने अकेले चुनाव लड़ा था और केवल 2 सीट पर ही जीत हासिल की थी।
सीट बंटवारे को लेकर रामविलास, चिराग से मिले शाह
भाजपा नेता व बिहार में पार्टी मामलों के प्रभारी भूपेंद्र यादव गुरुवार को पहले चिराग पासवान और रामविलास पासवान से मुलाकात की थी। इसके बाद लोजपा के नेताओं ने गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की और सीट बंटवारे में वार्ता को लेकर हो रही देरी पर अपनी चिंताओं से अवगत कराया था।
मुलाकात करीब डेढ़ घंटे तक चली. चिराग पासवान ने कहा था कि भाजपा को अपने सहयोगियों की बात सुनकर सीटों की साझेदारी की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि ज्यादा विलंब न हो और उससे नुकसान उठाना पड़े।
Next Story
Share it
Top