Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीहॉक से हिंद महासागर में होगी भारत की चाक-चौबंद सुरक्षा

अमेरिका ने 2.6 अरब डॉलर की कीमत पर भारत को 24 मल्टियूज एमएच 60 ‘आर’ सी हॉक हेलीकॉप्टर की बिक्री को मंजूरी दे दी है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। हिंद महासागर में चीन के अपनी मौजूदगी बढ़ाने के बीच ये हेलीकॉप्टर सतह और पनडुब्बीभेदी अभियानों में भारतीय नौसेना की क्षमता बढ़ाएंगे।

सीहॉक से हिंद महासागर में होगी भारत की चाक-चौबंद सुरक्षा
X
अमेरिका ने 2.6 अरब डॉलर की कीमत पर भारत को 24 मल्टियूज एमएच 60 ‘आर’ सी हॉक हेलीकॉप्टर की बिक्री को मंजूरी दे दी है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। हिंद महासागर में चीन के अपनी मौजूदगी बढ़ाने के बीच ये हेलीकॉप्टर सतह और पनडुब्बीभेदी अभियानों में भारतीय नौसेना की क्षमता बढ़ाएंगे।
प्रशांत और दक्षिण एशियाई क्षेत्र में चीन बढ़ते दबदबे के बीच यह हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। लॉकहीड मार्टिन द्वारा बनाए गए ये हेलीकॉप्टर पनडुब्बियों और पोतों पर अचूक निशाना साधने में सक्षम हैं। ये हेलीकॉप्टर समुद्र में तलाश और बचाव कार्यों में भी उपयोगी हैं।
एमएच 60आर सी हॉक हेलीकॉप्टर भारत के पुराने हो चुके ब्रिटेन निर्मित सी किंग की जगह लेंगे। ट्रंप प्रशासन ने मंगलवार को अमेरिकी संसद को सूचित किया कि उसने 24 एमएच-60आर बहु उपयोगी हेलीकॉप्टरों की बिक्री को मंजूरी दे दी है।

अभियानों को अंजाम देने में सक्षम

ये हेलीकॉप्टर भारतीय रक्षा बलों को सतह और पनडुब्बी भेदी युद्धक अभियानों को सफलता से अंजाम देने में सक्षम बनाएंगे। ये हेलीकॉप्टर फ्रिगेट, विध्वंसक पोतों, क्रूजर और विमान वाहक पोतों से संचालित किए जा सकते हैं।
विदेश मंत्रालय ने अपनी अधिसूचना में कांग्रेस को बताया कि इस प्रस्तावित बिक्री की मदद से भारत और अमेरिका के सामरिक संबंध मजबूत होंगे जिससे अमेरिका की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत बनाने में सहायता मिलेगी।

गृह सुरक्षा मजबूत होगी

उसने कहा कि इन हेलीकॉप्टरों की अनुमानित कीमत 2.6 अरब डॉलर होगी। इस बिक्री से उस बड़े रक्षा साझीदार की सुरक्षा स्थिति सुधरेगी जो हिंद प्रशांत और दक्षिण एशिया क्षेत्र में राजनीतिक स्थिरता, शांति एवं आर्थिक प्रगति के लिए महत्वपूर्ण कारक रहा है। अधिसूचना के अनुसार इस बढ़ी क्षमता से क्षेत्रीय खतरों से निपटने में भारत को मदद मिलेगी और उसकी गृह सुरक्षा मजबूत होगी।

दुनिया के अत्याधुनिक समुद्री हेलीकॉप्टर हैं

भारत को इन हेलीकॉप्टरों को अपने सशस्त्र बलों में शामिल करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। इसमें कहा गया कि इस प्रस्तावित बिक्री और सहयोग से क्षेत्र में मूल सैन्य संतुलन नहीं बिगड़ेगा। इन हेलीकॉप्टरों को दुनिया के सबसे अत्याधुनिक समुद्री हेलीकॉप्टर माना जाता है।
ये हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना की मारक क्षमता को बढ़ाएंगे। विशेषज्ञों के अनुसार हिंद महासागर में चीन के आक्रामक व्यवहार के मद्देनजर भारत के लिए ये आवश्यक हैं। ये इस समय अमेरिकी नौसेना में तैनात हैं।
विशेषज्ञों के अनुसार यह आधुनिक समय में उपलब्ध सबसे सक्षम नौसैन्य हेलीकॉप्टर है जो फ्रिगेट, विध्वंसक पोतों, क्रूजर और विमान वाहक पोतों से संचालित किया जा सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story