Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिला ने ''गे'' को बनाया हवस का शिकार, गे ने सुनाई अपनी दर्द भरी दास्तां

इन दिनों महिलाओं द्वारा पुरुषों के साथ छेड़छाड़ और रेप के कई मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन अब जो मामला सामने आया है वो बेहद ही चौंकाने वाला है।

महिला ने गे को बनाया हवस का शिकार, गे ने सुनाई अपनी दर्द भरी दास्तां
X

इन दिनों महिलाओं द्वारा पुरुषों के साथ छेड़छाड़ और रेप के कई मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन अब जो मामला सामने आया है वो बेहद ही चौंकाने वाला है। स्कॉटलैंड में एक महिला पर समलैंगिक पुरुष से रेप का आरोप लगा है।

2 साल पहले एक महिला ने एक गे का यौन उत्पीड़न किया लेकिन नियम-कानून के चलते आरोपी महिला को सजा नहीं हुई। अपने इस उत्पीड़न को लेकर पीड़ित ने अब मीडिया के सामने अपना दर्द बयां किया है।

सर्वाधिक पढ़ी गई खबर- तीन महिलाओं ने एक युवक का किया 30 दिनों तक रेप

पार्टी में किया रेप

ग्लासगो निवासी समलैंगिक फ्रैंक मैक्गोवन 36 साल के हैं। फ्रैंक ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि महिला द्वारा यौन उत्पीड़न करने के बाद मैंने खुदकुशी करने तक का सोत लिया था क्योंकि इस घटना के बाद मैं डिप्रेशन में चला गया था।

फ्रैंक के मुताबिक, 30 वर्षीय महिला चेरिल कॉट्रेल ने पार्टी में मेरा रेप किया लेकिन उस महिला को जैसे ही पता चला कि मैं एक गे हूं तो महिला घिनौनी बातें करने लगी और सेक्स के लिए बोलने लगी।

इसे भी पढ़ें- 30 लोगों का अचार डालकर खा गया यह नरभक्षी कपल

नहीं मिली कठोर सजा

फ्रैंक ने कहा मैंने जब इस बात पर विरोध जताया तो वह मुझपर दबाव बनाने लगी। उसने किचन तक मेरा पीछा किया और मेरा यौन उत्पीड़न किया। जब इसकी सूचना मैंने पुलिस को दी तो आरोपी महिला को सेक्सुअल असॉल्ट के आरोप में महज 5 दिनों के लिए सामुदायिक सेवा में लगाया गया और उसका नाम सेक्स अपराधियों की लिस्ट में शामिल कर दिया गया।

सुसाइड करने की की कोशिश

स्कॉटिश कानून के तहत यौन उत्पीड़न के दौरान अंगुलियों का यूज रेप नहीं माना जाता है। फ्रैंक आगे कहते हैं कि 2015 में हुई इस घटना ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी। मेरा रिलेशनशिप भी टूट गया, यही कारण था कि मैंने उस टाइम आत्महत्या करने का सोच लिया था। मैं इस घटना से इतना सहम गया था कि कई दिनों तक बिस्तर से नहीं उठ सका।

इसे भी पढ़ें- तो इसलिए सिर मुंडवा लेती हैं यहां लड़कियां, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

जिंदगी का सबसे भयानक दिन- फ्रैंक

फ्रैंक घटना को याद करते हुए आगे बताया कि मुझे विश्वास ही नहीं हुआ कि मेरे साथ तब क्या हो रहा था। मेरे लिए वह घटना बेहद बर्बर और दर्दनाक थी। मेरे शरीर से खून तक निकल आया था। पहले महिला अपने इस कृत्य के लिए साफ-साफ मुकर गई लेकिन बाद में ग्लासगो की शेरिफ कोर्ट में हुए ट्रायल के दौरान उसे दोषी ठहराया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story