Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुप्रीम कोर्ट विवाद: जस्टिस चेलमेश्वर ने अपने ''विदाई समारोह'' में आने से किया इनकार

बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि न्यायमूर्ति चेलमेश्वर ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए उनका निमंत्रण अस्वीकार कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट विवाद: जस्टिस चेलमेश्वर ने अपने विदाई समारोह में आने से किया इनकार
X

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायमूर्ति जे.चेलमेश्वर ने रिटायरमेंट होने के अवसर पर उनके सम्मान में 18 मई को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन द्वारा आयोजित किये जा रहे विदाई कार्यक्रम का निमंत्रण अस्वीकार कर दिया है।

न्यायमूर्ति चेलमेश्वर 22 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि न्यायमूर्ति चेलमेश्वर ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए उनका निमंत्रण अस्वीकार कर दिया।

न्यायमूर्ति चेलमेश्वर के नेतृत्व में 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठतम न्यायाधीशों की प्रेस कांफ्रेस में प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा पर लगाए गए आरोपों के बाद से ही वे विवादों में घिरे हुए हैं।

इस प्रेस कांफ्रेंस में न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ ने भी हिस्सा लिया था।

इसे भी पढ़ें- कर्नाटक चुनाव: बोले अमित शाह, कांग्रेस हार को जीत में बदलने के लिए कर रही है फर्जी मतदाता तैयार

बार एसोसिएशन ने कई बार किया अनुरोध

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने बताया कि जस्टिस चेलमेश्वर से एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने उन्हें 18 मई को विदाई समारोह में आमंत्रित करने के लिए पिछले सप्ताह मुलाकात की थी।

कोर्ट में ग्रीष्मावकाश शुरू होने से पहले 18 मई अंतिम कार्य दिवस है। अध्यक्ष विकास सिंह ने बताया कि जस्टिस चेलमेश्वर ने विदाई कार्यक्रम का निमंत्रण अस्वीकार कर दिया है।

उन्होंने बताया कि एसोसिएशन की कार्य समिति के सदस्यों ने बुधवार को एक बार फिर उनसे विदाई समारोह में शामिल होने का अनुरोध किया परंतु व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए उन्होंने इसके लिए अपनी सहमति नहीं दी।

इसे भी पढ़ें- मणिपुर: इंफाल में BSF के सेक्‍टर हेडक्‍वार्टर में IED ब्‍लास्‍ट, दो जवान शहीद

इस तरह के आयोजनों से रहते हैं दूर

न्यायमूर्ति चेलमेश्वर ने बार एसोसिएशन के सदस्यों को बताया कि उनका जब आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट से दूसरे हाईकोर्ट में स्थानांतरण हुआ था तो उस वक्त भी उन्होंने विदाई कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण स्वीकार नहीं किया था।

एसोसिएशन के सचिव विक्रांत यादव ने बताया कि न्यायमूर्ति चेलमेश्वर से उनके निवास पर बार के सदस्यों ने मुलाकात की लेकिन उन्होंने अपने विदाई कार्यक्रम का निमंत्रण स्वीकार नहीं किया।

न्यायमूर्ति चेलमेश्वर बुधवार को न्यायिक कार्य के लिये शीर्ष अदालत नहीं आये थे। इस वजह से वह लगातार तीसरी बार न्यायाधीशों के पारंपरिक बुधवार के दोपहर भोज में भी शामिल नहीं हो सके थे।

न्यायाधीशों के प्रत्येक बुधवार को होने वाले सामूहिक भोजन कार्यक्रम में बारी-बारी से न्यायाधीश अपने गृह राज्य के व्यंजन घर से लाते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story