Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

SC ने कहा जल्द जवाब दें सीबीआई निदेशक, स्वंयसेवी संस्था ने लगाया था आरोप

सुप्रीम कोर्ट ने आरोपों को गंभीर बताते हुए सीबीआई निदेशक से कहा, जो भी आप हमें बताना चाहते हैं, हमें साफ-साफ बताएं।

SC ने कहा जल्द जवाब दें सीबीआई निदेशक, स्वंयसेवी संस्था ने लगाया था आरोप
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक रंजीत सिंहा से कहा है कि वह एक स्वंयसेवी संस्था सीपीआईएल के उन आरोपों का जवाब दें जिसंमें कहा गया था कि वह 2जी घोटाले के आरोपियों से अक्सर मिलते रहे हैं, जबकि इसकी जांच खुद सीबीआई कर रही है। सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश न्यामूर्ति एच.एल. दत्तु की अध्यक्षता वाली पीठ ने सीबीआई निदेशक को इसके लिए एक हफ्ते का समय दिया। सुप्रीम कोर्ट ने आरोपों को गंभीर बताते हुए सीबीआई निदेशक से कहा, जो भी आप हमें बताना चाहते हैं, हमें साफ-साफ बताएं।

देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा, 'सीबीआई निदेशक के खिलाफ जो कुछ कहा गया है वह बहुत गंभीर है और वह यह नहीं कह सकते कि वह हलफनामा दाखिल नहीं करेंगे।' कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई निदेशक सीलबंद लिफाफे में हलफनामा दाखिल करने पर राजी हो गए हैं। न्यायालय ने कहा, 'हम 2जी मामले में निष्पक्ष सुनवाई चाहते हैं और यदि सीपीआईएल (सेंटर फॉर पब्लिक इंट्रेस्ट लिटिगेशन) के आरोपों में सच्चाई है तो मामले को प्रभावित करने की कोशिश की गई है। फिर आप इसे निष्पक्ष सुनवाई कैसे कह सकते हैं?

न्यायालय ने याचिकाकर्ता की वकील कामिनी से भी रंजीत सिन्हा की उस याचिका पर जवाब मांगा, जिसमें कहा गया है कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों को लेकर जयवाल की ओर से जो हलफनामा दायर किया गया है, वे झूठे बयानों पर आधारित हैं। इस बीच, अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने एक मूल रजिस्टर न्यायालय में रखा, जिसमें सीबीआई निदेशक के आवास पर जाने वाले 2जी घोटाले के आरोपियों तथा उन लोगों का ब्यौरा है, जिनके खिलाफ जांच जारी है। उन्होंने इस विजिटर्स डायरी को ऑरिजिनल कॉपी बताया है। उनका कहना है कि कुछ अज्ञात लोगों ने रविवार रात उन्हें यह सौंपा। न्यायालय ने इसे अपने कब्जे में ले लिया है।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, सुप्रीम कोर्ट ने क्यों रंजीत सिंहा से जल्द जवाब देने को कहा-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top