Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों को करोड़ों की चपत! SBI ने बिना बताए अकाउंट से काटे 990 रुपए, जानें पूरा मामला

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा ग्राहकों को एक बार फिर से चूना लगाए जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बैंक ने किसानों को करीब 1 हजार करोड़ रुपए की चपत लगाई है।

किसानों को करोड़ों की चपत! SBI ने बिना बताए अकाउंट से काटे 990 रुपए, जानें पूरा मामला
X

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) द्वारा ग्राहकों को एक बार फिर से चूना लगाए जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बैंक ने किसानों को करीब 1 हजार करोड़ रुपए की चपत लगाई है।

मध्य प्रदेश के अखबार 'नई दुनिया' में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, मौसम का हाल बताने के लिए SBI किसानों के खाते से 990 रुपए काट रहा है। जबकि केंद्र सरकार पहले से ही किसानों को टोल फ्री नंबर के जरिए मौसम की जानकारी फ्री में मुहैया करा रही है।

यह भी पढ़ें- शर्मनाक! 19 साल की लड़की को बदमाशों ने सरेआम पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जलाया

ये है अखबार की रिपोर्ट

एमपी में विदिशा के किसान हजारीलाल शर्मा की आपबीती पर अखबार ने यह रिपोर्ट छापी है। जिसमें बताया गया है कि शर्मा के मोबाइल पर बैंक से जानकारी आई कि मौसम न्यूज अलर्ट देने के एवज में इनके खाते से 990 रुपए काटे गए हैं। इस बात की शिकायत किसान ने बैंक मैनेजमेंट से की लेकिन फिर भी उनका पैसै वापस नहीं किया गया।

रिपोर्ट के अनुसार, विदिशा में सटेरन स्थित SBI के शाखा मैनेजर बीएस बघेल ने स्वीकार किया कि बिना कोई सूचना दिए किसानों के खाते से पैसा काटा जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुंबई स्थित मुख्य शाखा से यह राशि काटी जा रही है।

लेकिन एसबीआई की कृषि शाखा के मुख्य महाप्रबंधक जितेंद्र शर्मा का कहना है कि किसानों से सहमति पत्र भरवाने के बाद ही ये राशि उनके अकाउंट से काटी गई होगी।

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरे देशभर के किसान, उठाई कर्ज माफी और MS रिपोर्ट को लागू करने की मांग

हजार करोड़ की वसूली

मौसम की जानकारी देने के एवज में 990 रुपए की वसूली किसान क्रेडिट कार्ड रखने वाले खाताधारकों से की जा रही है। SBI की वेबसाइट के अनुसार, देशभर में 1 करोड़ एक लाख किसान क्रेडिट कार्डधारक हैं।

अगर इन सभी किसानों से 990 रुपए वसूले गए होंगे तो करीब 999.90 करोड़ रुपए की वसूली की गई होगी। हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि बैंक ने ये रकम सभी खाताधारकों से वसूली है या सिर्फ उनसे जिन्होंने इस सुविधा के लिए सहमति दी है। लेकिन बिना सहमति के बैंक किसी भी सुविधा के लिए किसी के भी अकाउंट से पैसे नहीं काट सकता।

यह भी अंदेशा लगाया जा रहा है कि हो सकता है कि किसानों ने अनजाने में फॉर्म पर संबंधित कॉलम को टिक कर सहमति दे दी हो।

ऐसे मिलती है ये सुविधा

एसबीआई ने ग्राहकों को मौसम अलर्ट की सुविधा देने के लिए आरएमएल नामक कंपनी से करार किया है। जिसके तहत 16 राज्यों की 500 एसबीआई शाखाओं के ग्राहकों के लिए यह सुविधा उपलब्‍ध कराई गई है।

इस सुविधा पर इसलिए सवाल उठ रहे हैं क्योंकि सरकार किसानों को मौसम की मुफ्त जानकारी पहले से ही दे रही है। टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 डायल कर मुफ्त में यह सुविधा ली जा सकती है।

यह भी पढ़ें- कर्ज माफी की मांग, कई राज्यों में सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसान

पहले भी हो चुकी है SBI की आलोचना

गौरतलब है कि इससे पहले लो बैलेंस के नाम पर एसबीआई ने खाताधारकों से एक बड़ी रकम जुर्माने के तौर पर वसूली थी, जिसकी काफी आलोचना हुई थी। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने देश के छह महानगरों में औसतन 5,00 रुपए, वहीं शहरी तथा अर्धवार्षिक शहरी शाखाओं के लिए 3 और 2 हजार रुपए न्यूनतम धनराशि तय की थी।

जबकि ग्रामीण शाखाओं के लिए यह रकम 1,000 थी। एसबीआई अकाउंट में न्यूनतम धनराशि न होने पर 20 रुपए (ग्रामीण शाखा) से और 100 रुपए (महानगर) से वसूली शुरू की थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story