Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सऊदी अरब के पुरुष अब पाकिस्‍तानी दुल्‍हन नहीं ला सकेंगे

सऊदी अरब की सरकार ने पुरूषों के लिए यह सख्त फरमान जारी कर दिया है।

सऊदी अरब के पुरुष अब पाकिस्‍तानी दुल्‍हन नहीं ला सकेंगे
रियाद. सऊदी अरब में पुरूषों के लिए एक सख्त फरमान जारी कर दिया गया है। इस फरमान में साफ कहा गया है कि सऊदी अरब के पुरूष पाकिस्तानी युवती या महिला से शादी या निकाह नहीं कर सकते। आपको जानकर हैरानी होगी कि खाड़ी के इस देश में इन्हीं चारों देशों की 5 लाख महिलाएं रहती हैं। बावजूद इसके ये फरमान जारी किया गया है। सऊदी अरब ने इन देशों की युवतियों से निकाह पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस पर वहां व्यापक बहस छिड़ी हुई है।
चार देशों पर लगा प्रतिबंध
इंडिया टाइम्स की खबर के मुताबिक अब सऊदी अरब के पुरुष पाकिस्तान, बांग्लादेश, चाड और म्यांमार की लड़कियों से शादी नहीं कर पाएंगे क्योंकि सरकार ने इन देशों की महिलाओं से शादी करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।
क्‍या हैं कायदे-कानून
एक पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक खाड़ी के देश नहीं चाहते कि यहां के युवक किसी प्रवासी लड़की से शादी करें। मक्का पुलिस डायरेक्टर ने बताया कि विदेशियों से शादी करने के लिए अब पहले से ज्यादा औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ेंगी। इस तरह की शादी के लिए अब सख्त कानून बनाए जाएंगे। नए कानून के मुताबिक, विदेशियों से शादी करने के लिए अब प्रशासन की सहमति लेनी जरूरी होगी और सरकार से आवेदन लेने के लिए आवेदक को कम से कम 25 साल का होना चाहिए। उसे स्थानीय डिस्ट्रिक्ट मेयर के हस्ताक्षर किया हुआ पहचान पत्र दिखाना होगा।
अगर शादी के लिए आवेदन करने वाला पुरुष पहले से ही शादीशुदा है और उसकी पत्नी विकलांग या फिर किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो उसे मेडिकल सर्टिफिकेट आवेदन के साथ लगाना होगा। हालांकि सऊदी अरब सरकार की ओर से अभी तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।
सऊदी में रह रहीं पांच लाख विदेशी बहुएं
एक रिपोर्ट में अनुमान के अनुसार, इन देशों की लगभग पांच लाख महिलाएं सऊदी अरब में शादी करके रह रही हैं। मक्‍का के पुलिस निदेशक अस्‍साफ अल-कुरैशी ने इस बारे में डिटेल्‍ड इन्‍फॉर्मेंशन प्राेवाइड कराई है। उन्‍होंने बताया कि अब सऊदी अरब के पुरुषों को विदेशी महिलाओं से शादी करने पर लंबी चौड़ी औपचारिक कार्यवाही से गुजरना होगा। शादी के नियम और कानूनों को और ज्‍यादा सख्‍त बनाया गया है। इसके साथ ही सभी शर्तों को पूरा करते हुए इच्‍छुक व्‍यक्ति को इस तरह की शादी के लिए सरकार को एप्‍लीकेशन देनी होगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top