Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सऊदी अरब सरकार का दावा, 2016 में जेद्दाह बम धमाके के पीछे था हिंदुस्तानी मास्टरमाइंड, DNA टेस्ट में हुई पुष्टि

सऊदी अरब के जेद्दाह में अमेरिका के वाणिज्य दूतावास के पास हुए बम धमाके में भारतीय नागरिक फैयाज कागजी का हाथ होने की खबर सामने आई है।

सऊदी अरब सरकार का दावा, 2016 में जेद्दाह बम धमाके के पीछे था हिंदुस्तानी मास्टरमाइंड, DNA टेस्ट में हुई पुष्टि
सऊदी अरब के जेद्दाह में अमेरिका के वाणिज्य दूतावास के पास हुए बम धमाके में भारतीय नागरिक फैयाज कागजी का हाथ होने की खबर सामने आई है। मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक इस बात की पुष्टि खुद सऊदी अरब ने आरोपी फैयाज के डीएनए सैंपल के आधार पर की है।
सऊदी अरब के मुताबिक पिछले साल फैयाज का डीएनए सैंपल भेजा गया था वह जेद्दाह बम ब्लास्ट करने वाले आरोपी से मैच कर गया है। आपको बता दें कि 4 जुलाई 2016 को सऊदी अरब के जेद्दाह में अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के बाहर एक आत्मघाती बम धमाका हुआ था।
जिसमें 2 सीनियर अधिकारी गंभीर रूप से घायल हुए थे। आपको बता दें कि उस दिन सऊदी अरब में तीन बम धमाके हुए थे। जिसमें दूसरा धमाका सऊदी अरब के कतीफ में शिया मस्जिद के पास तथा तीसरा बम धमाका मदीना मस्जिद के पास हुआ था।
आपको बता दें कि इस बम धमाके को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी फैयाज कागजी की मौत हो चुकी है।

कौन है फैयाज कागजी

फैयाज कागजी महाराष्ट्र के बीड़ का रहने वाला था। फैयाज कागजी साल 2006 में औरंगाबाद से हथियारों का जखीरा पकड़े जाने के बाद से फरार चल रहा था।

जिसके बाद कागजी बांग्लादेश के रास्ते पाकिस्तान में छिपकर रहने लगा था। जांच में पाया गया कि साल 2010 और 2012 में पुणे में हुए बम धमाको के पीछे कागजी का ही हाथ था।

कैसे हुई पहचान?

दरअसल जेद्दा बम धमाके के बाद सऊदी अरब ने संदिग्धों की तस्वीरें जारी की थी। जिसके बाद महाराष्ट्र एटीएस ने जेद्दा बम धमाके के संदिग्ध की तस्वीर के फैयाज कागजी से मिलने का शक जताया।

इसी सिलसिले में पिछले साल ही कागजी का डीएनए सैंपल सऊदी अलब को भेज गया। जिसके बाद डीएनए टेस्ट के मिलान के बाद साऊदी अरब ने इस बात की पुष्टि की की जेद्दा हमले के पीछे फैयाज कागजी का ही हाथ था।

Next Story
Top