Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जब सरोजनी नायडू को हुई थी जिन्ना से मुहब्बत

रोजनी उन्हें पसंद करने लगी थीं और कहीं गहरे तक जिन्ना पर आसक्त थीं।

जब सरोजनी नायडू को हुई थी जिन्ना से मुहब्बत
मोहम्मद अली जिन्ना को आमतौर पर भारत में देश के बंटवारे के लिए जिम्मेदार शख्स के रूप में जाना जाता है। तो वहीं पाकिस्तान में बाबा-ए-क़ौम यानी राष्ट्र पिता के सम्मान से नवाजा जाता है। भारत कोकिला के नाम से मशहूर सरोजनी नायडू का भी आजादी की लड़ाई में सक्रिय योगदान रहा है।
आज भले ही दोनों देशों के बीच के रिश्तों में खटास है लेकिन पाकिस्तान के नायक जिन्ना और भारत कोकिला सरोजनी नायडू के कभी काफी गहरे संबंध थे। हालांकि जिन्ना की नजर सिर्फ दोस्ती तक सीमित थी, लेकिन सरोजनी उन्हें पसंद करने लगी थीं और कहीं गहरे तक जिन्ना पर आसक्त थीं।
जिन्ना की पत्नी रती के जीवनीकार ख्वाजा रजी हैदर लिखते हैं सरोजनी भी जिन्ना के प्रशंसकों में से एक थी और 1916 के कांग्रेस अधिवेशन के दौरान उन्होंने जिन्ना पर कविता भी लिखी थी।
वहीं जिन्ना के जीवनीकार हेक्टर बोलिथो ने भी इस बात यह बात कही है। उन्होंने अपनी किताब में एक पारसी महिला का जिक्र करते हुए लिखा है कि सरोजनी भी जिन्ना को प्यार करती थी , लेकिन जिन्ना ने उनकी भावनाओं पर कभी गौर नहीं किया।
हालांकि सरोजिनी का भी जादू भी तब कम नहीं था और वे बंबई की नाइटिंगेल के रूप में जानी जाती थीं, लेकिन जिन्ना थे कि उनकी ओर कभी प्यार की नजर से देखा ही नहीं।
दरअसल जिन्ना उन दिनों किसी और के प्रेम थे। उन्हें अपने ही एक मुवक्किल सर दिनशॉ की बेटी रती से प्यार हो गया था। 16 साल की रती भी एक तेज दिमाग वाली लड़की थी और उनकी कविताओं और राजनीति में भी रुचि थी।

नीचे की स्लाइड्स में पढें, अन्य जानकारी

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top