Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक एजेंट ने लड़की बनकर जवान को फंसाया, होगा कोर्ट मार्शल

भारतीय सेना का जवान फेसबुक पर महिला की शक्‍ल में पाकिस्‍तानी एजेंटों के संपर्क में थे।

पाक एजेंट ने लड़की बनकर जवान को फंसाया, होगा कोर्ट मार्शल
X
नई दिल्ली. भारत में पाकिस्तानी एजेंट खूब सक्रिये हैं, इसका अंदाजा हम इस बात से लगा सकते हैं कि पाक एजेंट लगातार सोशल मीडिया पर लड़की बनाकर भारतीय सेना के जवानों को दोस्त बनाकर उनसे गुप्त सूचनाएं प्राप्त कर रहे हैं। इस ही एक नया मामला सामने आया है तोपखाना रेजिमेंट से। यहां के एक हवलदार ने फेसबुक पर महिला बने पाकिस्‍तानी एजेंट को व्‍हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर सेना की गुप्त सूचनाएं लीक की थीं। 10 मध्‍यम तोपखाना रेजिमेंट के हवलदार संजय यादव झांसी की बख्‍तरबंद डिविजन का हिस्‍सा हैं, उन्‍हें काेर्ट-मार्शल की प्रक्रिया से गुजारने के लिए सिकंदराबाद की 54 इंफैन्‍ट्री डिवि‍जन के तहत 654 ईएमई बटालियन से अटैच कर दिया गया है।
छह अन्‍य आर्मी अधिकारी भी प्रक्रिया में शामिल
जनसत्ता की खबर के मुताबिक, 11 नवंबर से ट्रायल शुरू किया गया था। एक इंफैन्‍ट्री बटालियन के कमांडिंग अधिकारी को कोर्ट-मार्शल का पीठासीन अध्‍ािकारी बनाया गया है, इसके अलावा छह अन्‍य आर्मी अधिकारी भी प्रक्रिया में शामिल होंगे। जीसीएम फिलहाल मिलिट्री इंटेलिजेंस के एक अधिकारी की जांच कर रही है जिसने इस जासूसी रैकेट का खुलासा किया।
महिला के लगातार संपर्क में जवान
केस से वाकिफ वरिष्‍ठ अध्‍ािकारियों ने कहा कि इंटेलिजेंस शाखा को मुखबिर से सूचना मिली थी कि हवलदार फेसबुक और व्‍हाट्सएप पर महिला के लगातार संपर्क में हैं। चूंकि सेना में सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स का इस्‍तेमाल करने को लेकर सख्‍त गाइडलाइंस हैं, आर्मी अधिकारियों ने उसकी गतिविधियों पर नजर रखी और पता चला कि उसके बैंक खाते में बेनामी नकदी जमा की गई है।
एजेंट ने महिला बनकर सेक्‍स चैट की
एक अध्‍ािकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, ”हमें पता चला है कि एक पाकिस्‍तानी एजेंट महिला बनकर इस जवान के साथ भड़काऊ सेक्‍स चैट की, जिसमें कुछ तस्‍वीरों का आदान-प्रदान भी किया गया। जांच में पता चला कि बैंक ऑफ बड़ौदा वाले हवलदार के बैंक खाते में अज्ञात सूत्रों द्वारा 1,38,000 रुपए जमा कराए गए थे। पहली बार में 8,000 रुपए जमा कराए गए थे।” बताया जा रहा है कि हवलदार पिछले करीब नौ महीनों से पाकिस्‍तानी एजेंट के संपर्क में था।
सूचनाओं को लीक करने का आरोप
हवलदार पर जिन सूचनाओं को लीक करने का आरोप है, उनमें विभिन्‍न यूनिटों की लोकेशन तथा महत्‍वपूर्ण पदों पर बैठे अध्‍ािकारियों के नाम व नियुक्तियां शामिल हैं। आर्मी में सूत्रों का कहना है कि इस मामले में अन्‍य सैन्‍य कर्मचारियों की लिप्‍तता से इनकार नहीं किया जा सकता।
ऐसे कई मामले सामने आए
पूर्व में भी कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जब सेवा में रहते हुए सैन्‍य कर्मचारियों ने फेसबुक पर हनीट्रैप में फंसकर संवेदनशील जानकारी लीक की है। 2014 में बठिंडा और 2015 में पठानकोट से दो एयरफोर्स अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया। वे फेसबुक पर महिला की शक्‍ल में पाकिस्‍तानी एजेंटों के संपर्क में थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story