Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस शख्स के निगरानी में है समाजवादी पार्टी का सारा पैसा

चुनाव चिह्न से लेकर पैसों तक का विवाद पार्टी के भीतर है।

इस शख्स के निगरानी में है समाजवादी पार्टी का सारा पैसा
X
नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी (सपा) में मचा घमासान थमता हुआ नहीं दिख रहा है। अखिलेश यादव द्वारा खुद को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किए जाने के बाद पार्टी नेता चुनाव आयोग के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं। चुनाव चिह्न से लेकर पैसों तक का विवाद पार्टी के भीतर है।
किसी दल का सारा पैसा उसके राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष के निगरानी में होता है। लेकिन इसे खर्च करने का फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष पर निर्भर करता है। फिलहाल सपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष संजय सेठ हैं।
55 साल के संजय सेठ को सपा ने पिछले साल राज्यसभा भेजा। पिछले साल जुलाई में ही घोषित सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में संजय सेठ को कोषाध्यक्ष बनाया गया।
बिल्डर संजय सेठ मुलायम सिंह यादव के खासमखास माने जाते हैं। उन्नाव जिले के रहने वाले संजय मुलायम सिंह के ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा करन में लगे हैं जिसके तहत लखनऊ में जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर का निर्माण कराया जाएगा।
सेठ की कंपनी शालीमार कॉर्प लिमिटेड को करीब 580 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट मिला हुआ है। ये कॉन्ट्रैक्ट बिजली और सिविल प्रोजेक्ट से संबंधित हैं। फिलहाल सेठ की कंपनी नोएडा और गाजियाबाद में मल्टी-लेवल पार्किंग का निर्माण करा रही है। शालीमार कॉर्प लिमिटेड को ये कॉन्ट्रैक्ट सपा के कार्यकाल में ही दिए गए हैं।
संजय सेठ लखनऊ विश्वविद्यालय से कॉमर्स ग्रेजुएट हैँ। संजय सेठ मुलायम सिंह के छोटे बेटे प्रतीक यादव के करीबी माने जाते हैं। प्रतीक की मदद से ही सेठ मुलायम के खासमखास बने।
संजय सेठ विवादों में भी रहे हैं। समाजवादी पार्टी द्वारा संजय सेठ को उत्तर प्रदेश विधान परिषद के लिए नामंकित किए गया लेकिन गवर्नर ने सेठ का नामंकण रद्द कर दिया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story