Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कमलनाथ को समर्थन देने के लिए अखिलेश यादव ने लिया टेक्नोलॉजी का सहारा, ऐसे भेजा था सपा का समर्थन पत्र

सोमवार को मध्य प्रदेश में कांग्रेस 15 सालों का वनवास पूरी तरह खत्म हो गया। कमल नाथ ने आज मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। 230 सीटों वाली विधानसभा में सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत थी। जिसमें से कांग्रेस को 114 सीटें मिली थीं। जीत के लिए उन्हें दो सीटें चाहिए थी। अखिलेश यादव ने अपनी एक सीट का समर्थन उन्हें भेजा। जानिए कैसे भेजा समर्थन पत्र।

कमलनाथ को समर्थन देने के लिए अखिलेश यादव ने लिया टेक्नोलॉजी का सहारा, ऐसे भेजा था सपा का समर्थन पत्र
सोमवार को मध्य प्रदेश में कांग्रेस 15 सालों का वनवास पूरी तरह खत्म हो गया। कमल नाथ ने आज मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। 230 सीटों वाली विधानसभा में सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत थी। जिसमें से कांग्रेस को 114 सीटें मिली थीं। बसपा को दो सीटें मिली थीं।
दो सीटों का समर्थन बहुजन समाज पार्टी ने कांग्रेस को दिया था जिसके बाद यह तय हो गया था कि कांग्रेस की सरकार बनेगी। समाजवादी पार्टी को भी 1 सीट मिली थी। जिसके बाद उसने भी कांग्रेस को समर्थन दिया था। दोनों ही पार्टी के मुखिया ने जिस तरह अपना समर्थन दिया वह तरीका अलग ही था।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने स्थानीय कार्यकर्ताओं के हाथों अपना समर्थन पत्र भिजवाया था। वहीं अखिलेश यादव ने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया। उन्होंने व्हाट्सएप के जरिए अपना समर्थन पत्र कमलनाथ को भेजा था। दोनों पार्टियों के समर्थन के बाद कांग्रेस सरकार बनाने में कामयाब हो सकी।
Share it
Top