Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2019 लोकसभा चुनाव में अगर कांग्रेस की हुई जीत, तो राहुल नहीं ये बनेंगे प्रधानमंत्री!

राहुल और सैम पित्रोदा के बीच तीन दशक का अंतर है।

2019 लोकसभा चुनाव में अगर कांग्रेस की हुई जीत, तो राहुल नहीं ये बनेंगे प्रधानमंत्री!

2019 के लोकसभा चुनावों के लिए सभी पार्टियां तैयारियों में जुट गई हैं। कांग्रेस के एक महासचिव ने खुलासा किया है कि अगर 2019 में कांग्रेस की जीत होती है तो देश का अगला प्रधानमंत्री कौन होगा।

दरअसल कांग्रेस के एक महासचिव ने एक चैनल से बातचीत के दौरान बताया कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो राहुल गांधी प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे।
उन्होंने नाम न बताने की शर्त पर बताया राहुल को जितना मैं जानता हूं वो सरकार की जिम्मेदारी उठाने में हिचकेंगे। उन्होंने बताया कि राहुल की जगह टेलीकॉम उद्यमी सैम पित्रोदा प्रधानमंत्री हो सकते हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव के चलते सैम इन दिनों गुजरात में कांग्रेस का प्रचार कर रहे हैं।
सैम पित्रोदा के प्रधानमंत्री बनने की बात बेशक अटपटी लग रही है लेकिन सैम आजकल राजनीति में सक्रिय हैं साथ ही उन्हें पहले ही कुर्ता और गांधी टोपी में देखा जा चुका है।
सियासत में ये पित्रोदा की दूसरी पारी है। पित्रोदा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के करीबी सलाहकार हैं और उन्हें अक्सर हिंदुस्ताव की दूरसंचार क्रांति का श्रेय दिया जाता है। सैम पित्रोदा का असली नाम सत्यनारायण गंगाराम पित्रोदा है।
पित्रोदा के बारे में बताया जाए तो वो राष्ट्रीय ज्ञान आयोग के प्रमुख रह चुके हैं औँर उन्होंने जन सूचना, बुनियादी ढांचा और नवाचार पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सलाहकार की जिम्मेदारी निभाई है। उन्होंने इस साल ओडिशा सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी सलाहकार का पद छोड़ा है।
राहुल गांधी पित्रोदा से 3 दशक छोटे हैं। कहा जाता है कि 1984 में राजीव गांधी ने पित्रोदा को भारत आने का न्योता दिया था।
भारत लौटने के बाद सैम ने यहां सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स की स्थापना की। उसके बाद वो तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सलाहकार बने और उन्होंने घरेलू और विदेशी दूरसंचार नीति को दिशा दी।
Next Story
Share it
Top