Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Blackbuck Poaching Case: जेल से रिहाई के बाद घर पुहंचे सलमान खान, बालकनी से किया फैंस का अभिवादन

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को वर्ष 1998 के काले हिरण के शिकार के मामले में आज जोधपुर के सेशंस कोर्ट से जमानत मिल गई है। नए जज रविंद्र कुमार जोशी ने सलमान खान की जमानत याचिका पर सुनवाई की।

Blackbuck Poaching Case: जेल से रिहाई के बाद घर पुहंचे सलमान खान, बालकनी से किया फैंस का अभिवादन
X

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को वर्ष 1998 के काले हिरण के शिकार के मामले में आज जोधपुर के सेशंस कोर्ट से जमानत मिल गई है। नए जज रविंद्र कुमार जोशी ने सलमान खान की जमानत याचिका पर सुनवाई की। सुनवाई से पहले नए पुराने जज देव कुमार खत्री से मिले और सलमान खान के केस पर चर्चा की थी।

जेल प्रशासन ने सलमान खान की रिहाई की प्रक्रिया पूरी की करने के बाद जेल से रिहा कर दिया है। जेल में ऑफिस बंद होने के चार मिनट पहले ही सलमान खान की रहाई का ऑर्डर लेकर उनके बॉडीगार्ड शेरा पहुंच गए थे। जेल से रिहाई के बाद सलमान खान जोधपुर एयरपोर्ट से करीब 7:30 बजे मुंबई पहुंचे।

इसके बाद मुंबई एयरपोर्ट से सलमान खान अपने घर के लिए रवाना हुए। इस बीच सलमान खान के फैंस ने उनके घर के सामने उनका आतिशबाजी से स्वागत किया। घर पहुंचकर सलमान खान ने बालकनी से हाथ हिलाकर फैंस का अभिवादन किया।

आपको बता दें कि जोधपुर में सलमान खान जेल से रिहाई के बाद कार एयरपोर्ट जा रहे थे उस समय उनकी एक झलक पाने के लिए हजारों लोगों का जुनून देखने लायक था। रास्ते में गुलाब के फूलों की बारिश की गई। इससे पहले ही दोनों बहनें अलवीरा और अर्पिता एयरपोर्ट पहुंच चुकी थीं।

सलमान खान की जमान पर उनके वकील ने कहा है कि हमें इंसाफ मिला है। आपको बता दें की सलमान खान को 25-25 हजार के दो मुचलके पर जमानत मिली है। सलमान खान को जमानत मिलते ही उनके फैंस ने खुशी जाहिर करते हुए आतिशबाजी शुरू कर दी थी। वहीं बिश्नोई समाज अब हाई कोर्ट में अपील करेगा।

बचाव पक्ष के वकील महेश बोरा ने कहा कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश रवींद्र कुमार जोशी ने करीब एक घंटे तक अभियोजन और बचाव पक्ष की दलीलें सुनीं। सुनवाई के दौरान सलमान खान की बहनें अलवीरा और अर्पिता भी अदालत में मौजूद रहीं।

गौरतलब है कि न्यायाधीश जोशी का कल देर रात सिरोही में तबादला कर दिया गया। गुरुवार को जोधपुर की एक निचली अदालत ने यहां‘‘ हम साथ- साथ हैं' की शूटिंग के दौरान सलमान को दो काले हिरणों को मार डालने का दोषी ठहरायाथा और पांच साल की सजा सुनाई थी।

सत्र अदालत ने कल बॉलीवुड सुपरस्टार की जमानत याचिका पर आज के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया था और निचली अदालत से मामले के रिकॉर्ड मांगे थे।

जेल में सलमान को याद आए दादाजी

सलमान खान गुरुवार को आए फैसले के बाद से जोधपुर जेल में बंद हैं। कोर्ट के सजा सुनाए जाने के बाद जब सलमान खान जेल में गए तो उनकी मुलाक़ात डीआईजी जेल विक्रम सिंह से हुई। बताया जा रहा है कि जैसे ही सलमान को डीआईजी जेल ने अपना परिचय दिया, तो सलमान ने कहा कि मेरे दादाजी भी डीआईजी थे।

आपको बता दें कि सलमान के दादा अब्दुल राशिद खान 1857 में इंदौर के होलकर राम पुलिस में डीआईजी थे। जासिम खान की किताब 'बीइंग सलमान' में भी इस बात का जिक्र है। किताब में बताया गया है कि महाराजा यशवंत राव होलकर ने उन्हें 'दिलेर जंग' की उपाधि से नवाजा था।

2006 में भी रहे थे जोधपुर जेल में

सलमान काले हिरण के शिकार मामले में साल 2006 में भी जोधपुर की जेल में रहे थे। बाहर आने के बाद एक पुराने इंटरव्यू में उन्होंने जेल की दिक्कतों के बारे में बताया था। सलमान ने पहले मजाक में कहा था, जेल में मैंने बहुत सारा फन किया। बाद में उन्होंने दिक्कतों के बारे में खुलकर बात की थी।

जानें पूरा मामला

बता दें कि सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, नीलम, सोनाली बेंद्रे और जोधपुर निवासी दुष्यंत सिंह पर आरोप है कि उन्होंने 1 और 2 अक्टूबर 1998 की रात सलमान पर कांकाणी में दो काले हिरण के शिकार का आरोप लगा था। गोली की आवाज सुन गांव वाले मौके पर पहुंच गए।

इस कारण वहां से सलमान खान अपनी जिप्सी में सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, नीलम और तब्बू को लेकर भाग निकले। ग्रामीणों ने दो काले हिरण बरामद किए। दोनों हिरणों की गोली लगने के कारण मौत हो चुकी थी। सलमान पर हिरणों को गोली मारने का और सैफ समेत तीनों एक्ट्रेस पर उन्हें उकसाने का आरोप है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story