Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्याही फेंकने वाला मनोज भी तिहाड़ में, जेल में एक चपाती से काम चला रहे हैं सुब्रत राय

सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को तिहाड़ जेल भेजे जाने के बाद रॉय को जेल में कोई सहूलियत नहीं मिली।

स्याही फेंकने वाला मनोज भी तिहाड़ में, जेल में एक चपाती से काम चला रहे हैं सुब्रत राय
X
नई दिल्ली. सहारा प्रमुख सुब्रत राय पर काली स्याही फेंकने वाले मनोज शर्मा को 11 मार्च तक तिहाड़ जेल में रहना होगा। मनोज को बुधवार को दिल्ली के एक कोर्ट में पेश किया गया। स्पेशल एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने उसकी जमानत भी मंजूर कर ली। लेकिन वह जमानत राशि जमा करने में नाकाम रहा। इसके बाद कोर्ट ने उसे 11 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

जेल में एक चपाती से काम चला रहे हैं सहारा प्रमुख
सहारा इंडिया परिवार के प्रमुख सुब्रत राय ने तिहाड़ जेल में मंगलवार की रात सिर्फ एक ही रोटी खाई। सर्वोच्च न्यायालय ने सुब्रत राय को 11 मार्च तक न्यायिक हिरासत में जेल भेजा है। कंपनी के दो निदेशकों अशोक राय चौधरी और रविशंकर दुबे के साथ सुब्रत राय को जेल के बैरक नंबर 4 में रखा गया है।
जेल अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि तीनों देर रात तक कानूनी दांवपेंच पर बातचीत करते रहे। सुब्रत राय मंगलवार की रात करीब 8 बजे जेल पहुंचे और सामान्य प्रक्रिया के तहत उनका चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया।

सुब्रत रॉय ने तिहाड़ जेल में जमीन पर सोकर गुजारी पहली रात, खाया जेल का खाना
सुप्रीम कोर्ट द्वारा सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को तिहाड़ जेल भेजे जाने के बाद रॉय को जेल में कोई सहूलियत नहीं मिली। सुब्रत रॉय ने सोमवार को जेल का खाना खाया और जमीन पर ही सोए। गौरतलब है सुप्रीम कोर्ट ने सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को अगली सुनवाई तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है, कोर्ट ने कहा है कि इस बीच अगर निवेशकों के पैसे लौटाने का कोई ठोस प्लान बताएंगे तो जमानत पर विचार किया जा सकता है।
सुब्रत रॉय की सेल 15 गुणा 10 फीट की है। सहारा प्रमुख को चार कंबल, एक बेडशीट और एक तकिया दिया गया है। आम कैदियों की तरह सुबह साढ़े पांच बजे जगना होता है। साढ़े सात से आठ बजे के बीच ब्रेकफास्‍ट में ब्रेड और चाय दी गई है। 12 बजे लंच होगा जिसमें दाल, करी, चपाती या चावल मिलेगा। तीन बजे स्‍नैक्‍स में चाय और बिस्किट। शाम छह बजे ही डिनर मिलेगा जिसमें दाल, करी, चपाती या चावल मिलेगा। उन्‍हें दूध या नॉन वेज खाना नहीं दिया जाएगा।
सहारा ने 22,500 करोड़ रूपये की बैंक गारंटी और सेबी को मदद की पेशकश की है। सहारा ने सेबी को निवेशकों के सत्यापन में मदद की भी पेशकश की है। निवेशकों का पैसा वापस लौटाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 11 मार्च को होगी, यानी इस बीच सहारा की ओर से कोई ठोस प्लान पेश नहीं किया जाता तो सुब्रत राय को तबतक जेल में ही रहना होगा।
सुप्रीम कोर्ट ने सहारा से कहा- निवेशकों के पैसे लौटाने का ठोस फॉर्मूला कोर्ट के सामने रखें। कोर्ट ने कहा कि सहारा कल तक पैसे लौटाने को लेकर ठोस तर्क पेश करे। सुप्रीम कोर्ट ने सहारा को फटकार लगाते हुए कहा -आप निवेशकों को पैसा नकद नहीं लौटा सकते, ये कानून के खिलाफ है। पैसे सिर्फ चेक या ड्राफ्ट बनाकर ही लौटाए जा सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
नीचे की स्लाइड्स में पढ़ें, कल कैसे सहारा प्रमुख की जज के सामने फिलसी जुबान

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story