Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट नहीं है किसी से कम, बेहद दिलचस्प है दोनों की ''लव स्टोरी''

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट बेहद खुबसूरत और ग्लैमरस महिला हैं। वैसे तो राजनीति के गलियारों में सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट की चर्चा कम ही होती है, लेकिन सारा पायलट का राजनीति के साथ जन्म से बड़ा गहरा नाता है।

Sachin Pilot Wife Sara PilotSachin Pilot Wife Sara Pilot

सचिन पायलट की पत्नी (Sachin Pilot Wife) सारा पायलट बेहद खुबसूरत और ग्लैमरस महिला हैं। वैसे तो राजनीति के गलियारों में सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट की चर्चा कम ही होती है, लेकिन सारा पायलट का राजनीति के साथ जन्म से बड़ा गहरा नाता है। सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की बेटी और उमर अब्दुल्ला की बहन हैं। बताया जाता हैं कि सारा पायलट और सचिन पायलट के बीच बेहद गजब की केमिस्ट्री है।

लोग कहते हैं कि हर 'कामयाब आदमी' के पीछे एक 'महिला का हाथ' होता हैं, ये बात शायद सचिन पायलट पर बिलकुल सटीक बैठती है। क्योंकि सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट के सपोर्ट के बिना सचिन का राजनीति की दुनिया में इतना बड़ा मुकाम पाना बेहद मुश्किल होता।

जब सचिन पायलट राजनीति के काम से पूरे देश का दौरा करते हैं, तब सारा पायलट घर पर रहकर बच्चों को संभालती हैं। इसके आलावा सारा पायलट यूनाइटेड नेशन की भारतीय विंग में महिला विकास के लिए भी काम करती हैं।

जम्मू-कश्मीर में जब 90 के दशक में अशांति और अराजकता का वातावरण बन रहा था। फारूक अब्दुल्ला ने घाटी में अशांति और असुरक्षा के माहौल को देखते हुए बेटी सारा पायलट को अपनी मां पास साथ लंदन भेज दिया था। इसके बाद से सारा पायलट ने अपनी जिंदगी के कई साल विदेश में ही गुजारे थे।

सारा-सचिन- पहली नजर में प्यार

सारा पायलट के पिता फारूक अब्दुल्ला और सचिन पायलट के पिता पूर्व केंद्रीय मंत्री राजेश पायलट राजनीतिक दोस्त थे। जब एक शादी समारोह में दोनों के परिवार मिले तब वहीँ सचिन पायलट और सारा पायलट की पहली मुलाकात हुई थी। और दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे थे।

सचिन और सारा की पहली मुलाकात के बाद सब कुछ आसन नहीं था। इसके बाद दोनों को मुलाकात के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से ग्रेजुएशन के बाद जब सचिन पायलट एमबीए (मास्टर्स इन बुज्नस एडमिनिस्ट्रेशन) करने के लिए अमेरिका गए तब दोनों की एक बार फिर मुलाकात हुई।

पढ़ते-पढ़ते... 'प्यार' हो गया

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया के व्हार्टन स्कूल ऑफ बिजनस में धीरे-धीरे सारा पायलट और सचिन पायलट की दोस्ती प्यार में बदलने लगी थी। सचिन और सारा अब एक दुसरे को डेट करने लगे थे। लेकिन दोनों की लव स्टोरी के रास्ते में अभी कई रोड़े थे।

सारा अपनी पढ़ाई के बाद भी विदेश में ही रही, लेकिन सचिन पायलट वापस भारत लौट आए थे। जुदाई के इस लंबे दौर में दोनों अक्सर फोन पर बातें करते रहते और ई-मेल और टेक्स्ट मेसेज का दौरा जारी रहा।

सारा ने एक टीवी इंटरव्यू में भी इस बात का जिक्र किया था। जुदाई के वक्त ई-मेल और टेक्स्ट मैसेज से सारा और सचिन हमेशा जुड़े रहे जिससे उनका प्यार और गहरा होता गया।

सारा-सचिन और फैमिली-फैमिली

जब सारा और सचिन पायलट को लगने लगा कि दोनों जिंदगीभर साथ निभा सकते हैं तो उन्होंने अपने परिवार वालों को मनाने की ठानी। सारा ने विदेश में ही एक बार सचिन पायलट को अपनी मां से मिलवाया था और उन्हें अपनी लव स्टोरी बताई थी।

सचिन पायलट की मासूम मुस्कराहट ने पहलीबार में ही सारा पायलट की मां का दिल जीत लिया, लेकिन सारा के पिता फारूक अब्दुला को मनाना अभी आसन नहीं था। फारूक अब्दुला अपनी बेटी सारा पायलट से बेहद प्यार करते थे।

फारूक अब्दुला कुछ राजनीतिक और धार्मिक कारणों से भी सारा और सचिन की लव स्टोरी के खिलाफ थे। वहीं सचिन पायलट का परिवार भी एक मुस्लिम लड़की को अपनी बहू बनाने के लिए तैयार नहीं था।

बाद में सचिन पायलट ने अपनी मां रमा पायलट को मना लिया, लेकिन जम्मू कश्मीर में जैसे ही इस राज से पर्दा उठा फारूक अब्दुला को बेहद आलोचना का सामना करना पड़ा। घाटी में कुछ मुस्लिम कट्टरपंथियों ने कहा कि फारूक अब्दुला की बेटी एक काफिर से शादी करने जा रही हैं।

उस दौर में फारूक अब्दुला को अपनी पार्टी के कुछ विधायकों के भी विरोध का सामना करना पड़ा।

सारा-सचिन के प्यार पर पहरा

फारूक अब्दुला की पार्टी नेशनल कांफ्रेंस के कुछ विधायकों ने कहा था कि इस्लाम के मुताबिक मुस्लिम युवक किसी भी गैर मुस्लिम महिला से शादी कर सकता हैं लेकिन कोई मुस्लिम महिला किसी गैर मुस्लिम युवक से शादी नहीं कर सकती है।

इसके बाद फारूक अब्दुला ने सचिन और सारा के प्यार पर पहरा लगा दिया। उन्होंने दोनों की फोन पर होने वाली बातचीत पर भी पाबंदी लगा दी थी। फारूक अब्दुला की इस पाबंदी के बाद दोनों ने कुछ समय इंतजार करने का फैसला किया।

सारा-सचिन शादी और बच्चें

जब इसी तरह इंतजार में तीन साल गुजर गए और स्थिति ऐसी ही बनी रही तब सचिन और सारा ने शादी का फैसला किया। 15 जनवरी 2004 में एक सादे समारोह में सचिन और सारा की शादी हुई।

इस शादी में सारा पायलट के पिता फारूक अब्दुल्ला और उनके भाई उमर अब्दुल्ला दोनों ही नहीं आए थे। अब सारा और सचिन पायलट की शादी को करीब 14 साल हो गए हैं। सचिन और सारा पायलट खुशी से अपनी जिंदगी बिता रहे हैं। सचिन और सारा पायलट के आरन और विहान नाम के दो बेटे भी हैं।

सारा पायलट के नाम अनोखा रिकॉर्ड

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट के नाम एक अनोखा रिकॉर्ड दर्ज है। सारा पायलट देश की इकलौती ऐसी महिला हैं, जिनके दादा-पिता और भाई मुख्यमंत्री रह चुके हैं। सारा पायलट के पिता फारुख अब्दुल्लाह (farooq abdullah), दादा शेख अब्दुल्लाह (Sheikh Abdullah), भाई उमर अब्दुल्लाह (Omar Abdullah) और फूफा गुलाम मोहम्मद शाह जम्मू कश्मीर के सीएम रह चुके हैं।

अगर सचिन पायलट राजस्थान के मुख्यमंत्री बन जाते हैं तो सारा पायलट (Sara Pilot) के नाम ये भी रिकॉर्ड भी दर्ज हो जाएगा, कि उनके पिता आर पति दोनों सीएम रह चुके हैं।

Next Story
Share it
Top