Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सबरीमाला विवाद: ये है महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर प्रतिबंध का असली कारण

सबरीमाला मंदिर में 12 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश से सुप्रीम कोर्ट ने रोक हटा दी थी। बुधवार को सबरीमाला मंदिर के कपाट खुलने से पहले मंदिर के बाहर तनाव की स्थिति बनी रही। लोगों ने प्रदर्शन किया।

सबरीमाला विवाद: ये है महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर प्रतिबंध का असली कारण
X
सबरीमाला मंदिर में 12 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश से सुप्रीम कोर्ट ने रोक हटा दी थी। बुधवार को सबरीमाला मंदिर के कपाट खुलने से पहले मंदिर के बाहर तनाव की स्थिति बनी रही। लोगों ने प्रदर्शन किया। इसी बीच प्रदर्शन उग्र हो गया जिसमें कई लोग घायल हो गए।
लेकिन असल में यह विवाद क्यों है? आखिर क्यों महिलाओं को इस मंदिर में प्रवेश की इजाजत सुप्रीम कोर्ट से लेनी पड़ी। कई लोगों का मानना है कि पीरियड्स के कारण मंदिर में महिलाओं का प्रवेश प्रतिबंधित है।


यह भी पढ़ें- पूर्व बसपा सांसद के बेटे की गुंडाई- ये है 1:14 मिनट के वीडियो की सच्चाई और इस केस से जुड़ी 7 बड़ी बातें

'फर्स्टपोस्ट' वेबसाइट में छपे एक लेख में एमए देवैया लिखते हैं कि मैं पिछले कई सालों से सबरीमाला मंदिर में जा रहा हूं। कई लोग पूछते हैं कि महिलाओं के आने पर किसने रोक लगाई है, तो मैं कहता हूं कि खुद अयप्पा ने।
पुरानी मान्यताओं के अनुसार अयप्पा ने ने शादी नहीं की थी। और वो अपने भक्तों की प्रार्थनाओं पर पूरी तरह से ध्यान देना चाहते हैं। साथ ही उन्होंने यह फैसला किया है कि जब तक उनके पास कन्नी स्वामी (पहली बार मंदिर आने वाले भक्त) आना बंद नहीं करते तब तक वह अविवाहित ही रहेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story