Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरल: अयप्पा श्रद्धालुओं के समर्थन में बोले अमित शाह, कहा- बल प्रयोग की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

केरल की वामपंथी सरकार पर हमले तेज करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि केरल सरकार सबरीमला मामले में प्रदर्शन कर रहे अयप्पा श्रद्धालुओं के खिलाफ बर्बरतापूर्वक बल का प्रयोग कर आग से खेल रही है।

केरल: अयप्पा श्रद्धालुओं के समर्थन में बोले अमित शाह, कहा- बल प्रयोग की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी
X

केरल की वामपंथी सरकार पर हमले तेज करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि राज्य में आपातकाल जैसे हालात हैं और राज्य सरकार सबरीमला मामले में प्रदर्शन कर रहे अयप्पा श्रद्धालुओं के खिलाफ बर्बरतापूर्वक बल का प्रयोग कर आग से खेल रही है।

राजनीतिक रूप से संवेदनशील कन्नूर में भाजपा के जिला कार्यालय का उद्घाटन करने के बाद अपने भाषण में बेहद कड़े शब्दों का प्रयोग करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि वामपंथी सरकार मंदिरों के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है।

वामपंथी सरकार पर जम कर बरसते हुए शाह ने माहवारी आयुवर्ग की महिलाओं को अयप्पा मंदिर में प्रवेश देने के उच्चतम न्यायालय के फैसले का विरोध कर रहे श्रद्धालुओं का समर्थन किया।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर, सरकारी निकायों ने लोगों के लिए जारी किया परामर्श

माकपा नीत एलडीएफ सरकार पर अयप्पा श्रद्धालुओं के प्रदर्शन को दबाने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा कि केरल में आपातकाल जैसे हालात हैं।

तमिलनाडु में सांडों को काबू में करने वाले खेल जलीकट्टू और मस्जिदों में लाउडस्पीकर के प्रयोग पर रोक लगाने संबंध उच्चतम न्यायालय के ऐसे फैसलों को शाह ने रेखांकित किया जिन्हें लागू नहीं किया जा सका है।

शाह ने कहा कि अदालतों द्वारा अव्यावहारिक निर्देश नहीं दिया जाना चाहिए और उन्हें ऐसे आदेश देने चाहिए जो लागू किए जा सकें। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आप अयप्पा भक्तों पर हमले करने की जगह राज्य के विकास पर ध्यान लगाएं।

इसे भी पढ़ें- जापान पहुंचे पीएम मोदी, शिंजो आबे के साथ वार्षिक शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा

अमित शाह ने मुख्यमंत्री पिनरई विजयन को चेतावनी दी कि यदि बल प्रयोग जारी रहा तो उन्हें भारी कीमत चुकानी पड़ेगी क्योंकि भाजपा कार्यकर्ता सरकार को गिराने में कतई संकोच नहीं करेंगे।

इसके बाद शाह पर पलटवार करते हुए विजयन ने उन्हें याद दिलाया कि राज्य सरकार भाजपा की दया पर नहीं टिकी हुई है। विजयन ने एक बयान में दावा किया कि यह सरकार जनता की चुनी हुई है। शाह का भाषण यह संदेश देता है कि जनादेश को भंग किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक विचार रखने वाले सभी लोगों को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। उन्होंने यह भी दावा किया कि शाह का भाषण राज्य सरकार के खिलाफ कम और उच्चतम न्यायालय और उसके फैसले के खिलाफ ज्यादा था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story