logo

Sabrimala / महिलाओं की एंट्री पर केरल में बवाल, बीजेपी कार्यकर्ता को मारा चाकू, कांग्रेस का प्रदर्शन, कई जगह तोड़फोड़

केरल के सबरीमाला मंदिर में बीते दोनों दो महिलाओं की एंट्री के बाद राज्य में जमकर हंगामा मचा हुआ है। राजनीतिक पार्टियों से लेकर हिंदू संगठनों का सड़कों पर जमकर प्रदर्शन हो रहा है।

Sabrimala / महिलाओं की एंट्री पर केरल में बवाल, बीजेपी कार्यकर्ता को मारा चाकू, कांग्रेस का प्रदर्शन, कई जगह तोड़फोड़
केरल (Kerala) के सबरीमाला मंदिर (Sabrimala Temple) में बीते दोनों दो महिलाओं की एंट्री (Women Entry) के बाद राज्य में जमकर हंगामा मचा हुआ है। राजनीतिक पार्टियों से लेकर हिंदू संगठनों का सड़कों पर जमकर प्रदर्शन हो रहा है।

कांग्रेस का सड़क पर प्रदर्शन

एएनआई के मुताबिक, केरल में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आईजी ऑफिस के बाहर मंदिर में महिलाओं की एंट्री को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

बीजेपी कार्यकर्ता को मारा चाकू

वहीं दूसरी तरफ प्रदर्शन के दौरान पत्रकारों पर हमला किया गया। जिसका पत्रकार संगठनों ने भारी विरोध किया है। हमले के दौरान वहां 3 लोगों को चाकू मारा गया। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ता भी शामिल था।

एक हैं चेक्चरार तो दूसरी हैं सीपीआई एक्टिविस्ट

जानकारी के लिए बता दें कि मंदिर में प्रवेश करने वाली महिलाओं का नाम बिंदू और कनकदुर्गा है। बिंदू कानू सान्याल सीपीआई ऐक्टिविस्ट हैं। जो पिछले 10 सालों से राजनीति में सक्रिय हैं और माओवादियों से लिंक भी बताए जा रहे हैं।
बता दें कि वो कन्नूर यूनिवर्सिटी में कार्यरत हैं। बिंदू केरल के पतनमथित्ता जिले की रहने वाली हैं। वहीं इसके अलावा बिंदू अम्मिनी पेशे से प्रोफेसर हैं। दोनों ही छात्रों के बीच काफी पॉपुलर हैं।

सबरीमाला मंदिर की मान्यता

गौरतलब है कि, सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल तक की महिलों का प्रवेश करना निषेद है। मंदिर की मान्यता है कि उम्र वाली महिलाओं को भगवान अयप्पा के सामने नहीं आना चाहिए। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिए थे कि सबरीमाला में महिलाओं एंट्री और राज्य सरकार दर्शन करने वाली हर महिला को सुरक्षा दे।
Loading...
Share it
Top