logo
Breaking

प्रद्युम्न मर्डर केस: अब मॉडर्न तकनीक से हत्याकांड का राज खोलेगी सीबीआई, जानें कैसे

प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच कर रही सीबीआई मॉडर्न मशीनों और तकनीकों का सहारा ले रही है।

प्रद्युम्न मर्डर केस: अब मॉडर्न तकनीक से हत्याकांड का राज खोलेगी सीबीआई, जानें कैसे

प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच कर रही CBI मॉडर्न मशीनों और तकनीकों का सहारा ले रही है। प्रद्युम्न की हत्या के राज से पर्दा उठाने के लिए वॉयस स्पेक्ट्रोग्राफी और फ्रेड नाम के फोरेंसिक वर्क स्टेशन का इस्तेमाल किया जाएगा।

इन तकनीकों के सहारे इस केस में और पुख्ता सबूत इकट्ठा किया जाएगा, जिससे आरोपी को कड़ी सजा मिल सके।

यह भी पढ़ें- जानें अपना अधिकार: बिन पैसे के कैसे लड़ सकते हैं अपना केस, फ्री में मिलता है वकील

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई अब फ्रेड मशीन का इस्तेमाल करेगी। फ्रेड एक ऐसी मशीन है, जिसके जरिए मर्डर से जुड़े CCTV फुटेज, हत्याकांड से जुड़े लोगों के कॉल रिकॉर्ड, चैट आदि को खंगाला जाता है।

इसका फायदा यह है कि इस तरह के केस में कई बार मौके से पुलिस ठीक से सबूत इकट्‌ठा नहीं कर पाती, इसलिए फ्रेड मशीन का यूज करके सभी रिकॉर्ड 100% तक रिकवर किया जा सकता है।
CBI के मुताबिक, प्रद्युम्न की हत्या के ठीक पहले और बाद के CCTV फुटेज की वॉयस स्पेक्ट्रोग्राफी की जाएगी। इससे नारको, ब्रेन मैपिंग, और पॉलीग्राफी टेस्ट के जरिए आवाज के नमूनों की भी जांच की जाती है। इसके जरिए किसी शख्स से संबंधित फुटेज को देखकर होंठ हिलाने के आधार पर मालूम किया जाता है कि उसने क्या बोला होगा।
Loading...
Share it
Top