Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रयान स्कूल मामला: प्रद्युम्न के दोस्त ने बताया कैसी हुई हत्या, और फिर क्या हुआ

रयान स्कूल में प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या का आरोपी अशोक जेल में बंद है।

रयान स्कूल मामला: प्रद्युम्न के दोस्त ने बताया कैसी हुई हत्या, और फिर क्या हुआ

गुरुग्राम के रयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास के सात साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के 6 दिन बाद उसके दोस्तों ने कई चौंकाने वाले खुलासे किया।

प्रद्युमन के दोस्त ने बताया कि सभी बच्चे बाथरूम में कराटे की ड्रेस बदलने के लिए गए थे। उसी दौरान अशोक को उन्होनें बाथरूम में देखा था और थोड़ी देर बाद वाटर वह कूलर पर हाथ धोने के लिए आया था।

उसके बाद जब प्रद्युम्न वापस नहीं लौटा तो मैं वॉशरूम की तरफ कॉरिडोर में गया तो देखा की खून बहुत तेजी से बह रहा था। फिर में वॉशरूम में नहीं गया।

हमारे एग्जाम स्टार्ट होने वाले थे इसलिए मैं जल्दी से वहां से निकल गया। तो जाते जाते मैंने देखा कि एक मैड आ रही थी, पोंछा लेकर ताकि वह ब्लड साफ़ कर दे, फिर मैंने देखा उसके बाद क्या हुआ।

दूसरे दोस्त ने बताया कि जब प्रद्युम्न को बाथरूम से बाहर निकाला गया तब सारी टीचर्स रो रहीं थीं, तभी जूनियर्स की इंचार्ज आईं तो उन्हें ड्राइवर को बोला भागकर जाओ गाडी कि चाबी लाओ ताकि प्रद्युम्न को अस्पताल लेकर जा सकें।

ये है रयान स्कूल का मामला

* गुड़गांव के रयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई थी।

* शव शौचालय में मिला, जिसके बाद पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया।

* आरोपी अशोक 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था।

केस से जुड़ी खास बात

* जिन बच्चों ने पुलिस को सारा मामला बताया था वो उसकी क्लास के नहीं थे।

* बच्चों ने बिना डरे हुए आरोपी कंडक्टर अशोक की पहचान कर ली थी।

* पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से बस कंडक्टर अशोक को किया गिरफ्तार।

केस को लेकर अब क्या चल रहा है

* गिरफ्तारी के डर से रेयान के मालिकों ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई।

* मंगलवार को हाईकोर्ट ने पिंटो फैमिली को एक दिन की राहत दी। आज बुधवार को सुनवाई होगी।

* इससे पहले प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी।

* जिसे कोर्ट ने स्वीकार करते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकार को नोटिस जारी किया था।

Next Story
Top