Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रयान इंटरनेशनल स्कूल केस: क्या CBI खोज पाएगी प्रद्युमन की हत्या से जुड़े इन 5 सवालों के जवाब

गुरुग्राम के रयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को प्रद्युमन ठाकुर की गला रेत के हत्या कर दी गई थी।

रयान इंटरनेशनल स्कूल केस: क्या CBI खोज पाएगी प्रद्युमन की हत्या से जुड़े इन 5 सवालों के जवाब

गुरुग्राम के रयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को दूसरी क्लास में पढ़ने वाले सात साल के मासूम प्रद्युमन की गला रेत के हत्या का मामला दिन प्रतिदिन उलझता जा रहा है। बेशक हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराए जाने की सिफारिश कर दी हो, लेकिन क्या सीबीआई मौत के बाद उठे उन पांच सवालों के जवाब ढूंढ पाएगी, जिनकी वजह से उलझ गया था केस... क्योंकि प्रद्युम्न के घरवाले बार-बार यह कह रहे हैं कि कहीं उसकी हत्या इसलिए तो नहीं हो गई कि उसने कुछ ऐसा देख लिया था जिससे भेद खुलने का डर था। ऐसे ही कई अनसुलझे सवाल हैं जिनको लेकर सीबीआई को माथापच्ची करनी होगी...

  1. प्रद्युम्न की हत्या से 2 दिन पहले ऐसा क्या हुआ था कि छुट्टी के बाद बच्चों से भरी स्कूल बस को वापस बुला लिया गया था...?
  2. जिस समय प्रद्युम्न की हत्या हुई उसके कंधे पर स्कूल का बैग था, आखिर पीठ पर बैग लादकर टॉयलेट क्यों जाता? यह सवाल और भी महत्वपूर्ण इसीलिए है क्योंकि प्रद्युम्न का क्लास टॉयलेट से चंद कदम ही दूर था...?
  3. पुलिस का कहना है कि अशोक के पास जो चाकू मिला वो बस के टूलकिट का हिस्सा था, जबकि बसों के टूल किट में चाकू होता ही नहीं है, ये बात ड्राइवर ने भी मानी है, अशोक ने चाकू कब और कहां से खरीदा इसका पता करने की कोशिश पुलिस ने क्यों नहीं की...? साथ ही पुलिस ने इस बात की कोई तहकीकात नहीं की है कि क्या इससे पहले भी दूसरे कंडक्टर अपने टूल किट का सामान धोने के लिए बच्चों के टॉयलेट का इस्तेमाल करते थे?
  4. प्रद्युमन की हत्या के बाद अशोक प्रद्युम्न को उठाकर स्कूल के रिसेप्शन तक तो आया लेकिन अस्पताल क्यों नहीं आया...? अगर चपरासी प्रद्युम्न को लेकर अस्पताल जा सकता था तो कंडक्टर अशोक क्यों नहीं? आखिर स्कूल स्टाफ ने अशोक को किस वजह से अपने पास ही रोक लिया?
  5. जिस टॉयलेट में प्रद्युम्न की हत्या हुई उसकी खिड़की का सरिया इस तरह से काटा गया था कि वहां से कोई भी आसानी से निकल सके, पुलिस ने इस बारे में भी किसी से कोई पूछताछ नहीं की। क्या प्रद्युम्न की हत्या की पहले से ही साजिश की गई थी और उसे जबरदस्ती किसी ने स्कूल के टॉयलेट में खींच लिया?

यह सवाल ऐसे हैं जिनका पुलिस ने अब तक कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया, वहीं प्रद्युम्न के घरवालों को उम्मीद है कि सीबीआई की जांच में इन सभी सवालों का जवाब मिल जाएंगे।

Next Story
Top