Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

S-400 मिसाइल सिस्टम से जुड़ी 10 बड़ी बातें, भारतीय वायुसेना होगी शक्तिशाली

भारत एक शक्तिशाली देश बनने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के लेकर एक अहम डील हो गई है।

S-400 मिसाइल सिस्टम से जुड़ी 10 बड़ी बातें, भारतीय वायुसेना होगी शक्तिशाली
X

भारत एक शक्तिशाली देश बनने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के लेकर एक अहम डील हो गई है।

अब इस डील के साथ ही भारत और रूस के बीच और गहरी संबंध दिख रहे हैं। इससे भारत की रक्षा शक्ति में बढ़ोतरी होगी और चीन के बाद भारत दूसरा ऐसा देश बना गया है जिसके पास एस-400 मिसाइल होगी।

दोनों देशों के बीच 20 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं इसमें सबसे अहम एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम डील है। जिसका इंतजार भारतीय वायुसेना काफी सालों से कर रही है। S-400 मिसाइल सिस्टम इतना खतरनाक है कि ये 400 किलोमीटर के दायरे में किसी भी दुश्मन को हवा में मार गिरा सकता है।

ये भी पढ़ें - पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर राहुल गांधी ने पीएम से की अपील, बोले- GST के दायरे में लाया जाए

जानें S-400 मिसाइल सिस्टम से जुड़ी 10 अहम बातें

1. S-400 मिसाइल सिस्टम का पूरा नाम S-400 ट्रायम्फ है। इसे SA-21 ग्रोलर के नाम से भी जाना जाता है।

2. इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत है कि ये लंबी दूरी का जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल है जिसे रूस ने बनाया है।

3. बता दें की रूस की ये मिसाइल S-400 सबसे पहले साल 2007 में इस्तेमाल किया गया था जो कि S-300 का अपडेटेड वर्जन है। रूस इसके अपडेटेड वर्जन S-500 पर काम कर रहा है।

4. इस मिलाइल की सबसे बड़ी खासियत है कि ये 400 किमी के दूसरी तक कई लड़ाकू विमान, बैलिस्टिक मिलाइल, क्रूज मिसाइल और ड्रोन को खत्म कर सकता है। भारत साल 2015 से ही रूस से इस मिलाइल की मांग कर रहा था। भारत ही नहीं कई ऐसे देश हैं जो रूस से S-400 मिसाइल खरीदना चाहते हैं।

5. इस मिलाइल की सबसे बड़ी खासियत है कि मारक क्षमता अचूक है क्योंकि यह एक साथ तीन दिशाओं में मिसाइल दाग सकती है और दुश्मन के रण को खत्म कर सकती है।

6. अमेरिका और रूस विश्व की सबसे बड़ा हथियार निर्यातक देश है। अमेरिका और रूस के पास पूरे विश्व का 92 प्रतिशत परमाणु हथियार है।

7. रूस एस-400 के अपग्रेडेड करने के काम में लगा हुआ है और 2020 तक S-500 एयर डिफेंस सिस्टम सेना में भर्ती हो जाएगा।

8. ये एस-400 इतना शक्तिशाली है कि अमेरिका के एफ-35 के 6 फाइटर विमानों को एक साथ निशाना बना सकता है।

9. कई रडार, एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम, लॉन्चर, कमांड और कंट्रोल सेंटर एक साथ होने के कारण एस-400 दुनिया में सबसे ज्यादा डिमांड वाली मिसाइल है।

10. मोदी और पुतिन के बीच द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इनमें भारत को एस-400 वायु रक्षा प्रणाली देने के लिए पांच अरब डॉलर का करार शामिल है। इसके अलावा रक्षा, अंतरिक्ष, व्यापार, ऊर्जा और पर्यटन जैसे प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने को लेकर भी डील हुई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story