Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

6 किमी. तक दुश्मन को गोली मार सकता है ये ''किलर रोबोट''

इस रोबोट का नाम ‘फ्लाइट’ रखा गया है।

6 किमी. तक दुश्मन को गोली मार सकता है ये
रूस. सीमा सुरक्षा के लिए रूस ने एक ऐसा ‘किलर रोबोट’ बनाया है जो 6 किमी की दूरी से भी दुश्मनों को गोली मार सकता है। यह रोबोट जमीन और हवाई दुश्मनों का पता लगा उन पर हमला करने में सक्षम है। शार्प शूटर का काम करने वाले इस रोबोट का नाम ‘फ्लाइट’ रखा गया है।
रूस ने अपनी सीमाओं की सुरक्षा के लिए एक ऐसे रोबो का निर्माण किया है जो दुश्मन पर नजर रखने और घुसपैठ रोकने के लिए काम आएगा। इस रोबो को रूस अपनी सीमाओं पर तैनात करेगा। यह रोबोट जमीन और हवाई दुश्मनों का पता लगाने के बाद छह किमी की दूरी से भी दुश्मनों पर सटीक निशाना लगाकर उन्हें गोली मार सकता। आइए हम आपको बताते है कि कैसे बना है यह रोबो और क्या-क्या खासियत है इसकी-
ऐसे बना है हाई टेक ‘शार्प शूटर’ रोबोट-
रूसी वैज्ञानिकों ने ऐसे दो रोबोट बनाए गए हैं। राडार व ग्रेनेड से लैस: फ्लाइट रोबोट एक शक्तिशाली राडार, जीपीएस, थर्मल वीडियो इमेंजिंग एचडी कैमरा, रंगीन और ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो कैमरा, लंबी रेंज वाली बंदूक और अधिक दूरी तक मार करने में सक्षम ग्रेनेड लॉन्चरों के साथ कई विस्फोटक हथियारों से लैस है। यह रोबोट रूसी सेना की आंख बनकर काम करेगा।
ऐसे करेगा दुश्मनों का खात्मा-
हवाई दुश्मनों को खत्म करेगा फ्लाइट रोबोट का इस्तेमाल रूसी सीमा लांघने की कोशिश कर रहे लोगों के साथ कम ऊंचाई पर उड़ने वाले ड्रोन व दूसरे हथियारों पर नजर रखने में होगा। ड्रोन की गतिविधियों पर बारीक नजर रखने के साथ वह कहां से उड़ा है, यह रोबोट उसकी जानकारी जुटाने में भी सक्षम है। हवाई हमलों को ध्यान में रखकर इसे डिजाइन किया गया है।
ये हैं रोबोट के फीचर्स-
10 किमी दूर से आ रही कार का पता लगाता है। 07 किमी दूर से इसका राडार पहचान लेगा।
400 किमी दूर से इसका राडार पहचान लेगा
दुश्मन पहचानने में सक्षम-
यह रोबोट रूस के सैनिकों और दुश्मनों के बीच स्पष्ट रूप से अंतर करने में सक्षम है। इसमें इमेजिंग सेंसर्स लगे हैं जो दूसरे लोगों के बीच अंतर स्थापित कर पाते हैं। इस रोबोट को लगातार अपग्रेड भी किया जा रहा है।
ऐसे करता है काम-
इसमें लगा राडार पहले टॉरगेट की पहचान करता है। फिर ऑप्टिकल प्रणाली यानी वीडियो कैमरे की की मदद से उसकी गतिविधियों पर नजर रखता है और सूचनाएं कंट्रोल रूम को भेजता है। निर्देशानुसार यह काम को अंजाम देता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top