Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुजफ्फरनगर दंगों के 800 आरोपी फरार

मुजफ्फरनगर में 2013 में हुए दंगों में लूट, बलात्कार और आगजनी के 567 मामले दर्ज हुए थे।

मुजफ्फरनगर दंगों के 800 आरोपी फरार
X

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में 2013 में हुए दंगों में लूट, बलात्कार और आगजनी के 567 मामले दर्ज हुए थे जिनमें से 1531 दंगाइयों के विरूद्ध आरोप सिद्ध हुए, 581 की गिरफ्तारी हुई जबकि 130 लोगों ने न्यायालय में आत्मसमर्पण किया लेकिन अभी तक इस मामले के 800 अभियुक्तों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है।

सूचना के अधिकार के तहत राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 'इन दंगों में चल संपत्ति के नुकसान के 546 मामलों में से 542 मामलों में 2.14 करोड़ रूपये की राशि का भुगतान किया गया और अचल संपत्ति के नुकसान के 63 मामलों में 64.12 लाख रूपये दिए गए।'
आरटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, 'यूपी के मुजफ्फरनगर, शामली एवं अन्य क्षेत्रों में साम्प्रदायिक दंगों में हुई लूटपात , आगजनी, बलात्कार के 567 मामले दर्ज हुए थे। इनमें से 534 मामले केवल मुजफ्फरनगर में ही दर्ज हुए थे जबकि शामली में 27 ,बागपत, मेरठ और सहारनपुर में दो-दो मामले दर्ज किेए गए थे।
इन अपराधिक मामलों की कुल संख्या 510 थी चूंकि एक ही प्रकार के अपराध के लिए अनेक मामले दर्ज किये गए थे। इन दंगों में 6406 अभियुक्तों का नाम दर्ज था जबकि 2791 लोगों के खिलाफ आरोप सिद्ध नहीं हो पाए थे और जांच के दौरान ही 12 अभियुक्तों की मौत हो गई थी।
जानकारी के अनुसार इस मामले में 852 अभियुक्तों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए गए तथा 607 अभियुक्तों के खिलाफ अपराध दंड संहिता की धारा 82 के तहत कार्यवाही चल रही है।
आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मामले में 2016 के आखिरी तक 802 अभियुक्तों की गिरफ्तारी बाकी थी। जबकि अदालत ने अपराध दंड संहिता की धारा 83 के तहत 300 अभियुक्तों में से 150 अभियुक्तों के विरूद्ध कुर्की की कार्यवाही की थी। इस मामले में 453 अभियुक्तों के विरूद्ध आरोपपत्र दाखिल किया गया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story