logo
Breaking

बीजेपी के खिलाफ आवाज उठाने वालों को बाहर निकाल रही आरएसएस

संघ राघव रेड्डी के साथ तोगड़िया समेत एेसे दूसरे समर्थकों को बाहर निकाल रही है जो बीजेपी और मोदी के खिलाफ विरोध कर रहे हैं।

बीजेपी के खिलाफ आवाज उठाने वालों को बाहर निकाल रही आरएसएस

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया की ओर से बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर लगाए गए आरोपों के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) अब तोगड़िया को उनके पद से हटाने की योजना बना रही है।

तोगड़िया के अलावा आरएसएस ने भारतीय मजदूर संघ के जनरल सेक्रेटरी विरजेश उपाध्याय और वीएचपी के अध्यक्ष राघव रेड्डी को भी उनके पद से मुक्त करने की योजना बनाई है।
एक समाचार पत्र के मुताबिक आरएसएस के पदाधिकारी यह देखकर खुश नहीं हैं कि ये तीन लोग अपना खुद का एजेंडा चलाते हुए सरकार को शर्मिंदा कर रहे हैं। इतना ही नहीं इन दोनों संगठन का संघ की विचारधारा के प्रचार के लिए उपयोग नहीं किया जा रहा है।
रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार, विश्व हिंदू परिषद की कार्यकारी बैठक फरवरी के अंतिम सप्ताह में होगी, जिसमें आरएसएस परिषद के अध्यक्ष के लिए दोबारा चुनाव हो, जिससे राघव रेड्डी की जगह नया अध्यक्ष चुना जाए।
इसके साथ ही रेड्डी, तोगड़िया सहित दूसरे समर्थकों को भी हटाए जाने की योजना बनाई जा रही है। जो बीजेपी और प्रधानमंत्री के खिलाफ चल रहे है आरएसएस उन्हें संघ से बाहर निकालना चाहती है।
संघ चाहता है कि उनके संगठन सरकार के साथ टकराव करने से बचें और अगर कोई मतभेद हैं तो उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाया जाए। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह 2019 के आम चुनाव हैं।
आपको बता दें कि हाल ही में प्रवीण तोगड़िया ने आरोप लगाया था कि उन्हें पुलिस एंकाउंटर में मारने की योजना बनाई जा रही है। इससे पहले भी तोगड़िया और विरजेश उपाध्याय बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और पीएम मोदी को कई मुद्दों को लेकर उनके खिलाफ बोल चुके हैं। इसके अलावा उन अधिकारियों की भी जांच की जा रही है, जिन्होंने पाटीदार कोटा प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया था।
Loading...
Share it
Top