Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जेएनयू में मुस्लिम छात्र ने पकाई बिरयानी, वाइस चॉंसलर ने लगाया जुर्माना

यूनिवर्सिटी का कहना है कि छात्र ने एक संगीन जुर्म किया है।

जेएनयू में मुस्लिम छात्र ने पकाई बिरयानी, वाइस चॉंसलर ने लगाया जुर्माना

दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के कार्यालय ने बीफ बिरयानी बनाने के जुर्म में एक छात्र को सजा दी है।

यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने छात्र पर अपने दोस्तो के साथ मिलकर बिरयानी पकाने और खाने के जुर्म में 6 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। यूनिवर्सिटी का कहना है कि छात्र ने एक संगीन जुर्म किया है जिसके खिलाफ एक्शन लेना जरूरी है।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक चीफ प्रॉक्टर कौशल कुमार शर्मा ने यह आदेश जारी किया है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में 4-5 छात्रों पर जुर्माना लगाने का दावा किया जा रहा है। लेकिन आदेश में कहा गया कि 27 जून को मोहम्मद आमिर मलिक नाम का छात्र संस्थान की एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग के बाहर सीढ़ियों के पास खाना (बिरयानी) बनाने और अन्य छात्रों के साथ उसे खाने में शामिल था।

वह संस्थान के सेंटर अॉफ अरेबिक एंड अफ्रीकन स्टडीज का छात्र है। उन्होंने 2013 में जेएनयू में एडमिशन लिया था। आदेश के मुताबिक आरोपी छात्र ने अनुशासन तोड़ा है और उस पर 6 हजार रुपये का फाइन लगाया गया है। उन्हें जुर्माना भरने के लिए 10 दिनों का समय दिया गया है। वहीं छात्र संगठन एबीवीपी ने कहा है कि यह ‘बीफ बिरयानी’थी।

कॉलेज प्रशासन की नैतिकता के आधार पर भी छात्र ने गलती की है जिसे कॉलेज के वाइस चॉंसलर ने संज्ञान लेते हुए गलत ठहराया है। इस आधार पर छात्र पर 6 हजार रुपए का जुर्माना लगाकर उसकी भरपाई और भविष्य में ऐसी गलती ना करने की बात कही गई है। लेटर मिलने के दस दिन के अंदर छात्र जुर्माना भरे और एक सबूत भी दे कि उसने जुर्माना भर दिया है।

इस मामले में आमिर का कहना है कि कि कैंपस के सारे ढाबे रात 11 बजे बंद हो गए थे, इसलिए छात्रों ने खाना पकाने का सोचा उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, हमारे खिलाफ कोई खास आरोप नहीं है। लेकिन वीसी किसी भी काम को नियमों के खिलाफ बता सकते हैं।

Next Story
Share it
Top