Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यूपी मिशन: राज्य में ताबड़तोड़ सड़क परियोजनाएं शुरू करेगा केंद्र

देशभर में मोदी सरकार सड़कों के निर्माण के लिए एक के बाद एक परियोजनाओं की शुरूआत हो रही है

यूपी मिशन: राज्य में ताबड़तोड़ सड़क परियोजनाएं शुरू करेगा केंद्र
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों की जंग जीतकर सत्ता तक पहुंचने में जुटे राजनीतिक दल एक-दूसरे की सियासी रणनीतियों को बौना साबित करने के प्रयास कर रहे हैं। वहीं भाजपा सपा को सत्ता से बेदखल करके यूपी के सिंहासन पर अपना कब्जा जमाने के लिए कोई कसर छोड़ना नहीं चाहती है। ऐसे में भाजपा ने यूपी में विकास के नारे को हवा देते हुए अपनी ठोस रणनीति के तहत ताबडतोड़ सड़क परियोजनाएं राजनीति की पटरी पर उतारने की शुरूआत पहले ही कर दी है।
दरअसल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की सियासी बिसात बिछाने में नई-नई रणनीतियों के सहारे सत्ता तक पहुंचने की जुगत में लगे हैं। ऐसे में भाजपा अपने चुनावी अभियान में सभी संसदीय क्षेत्रों में ताबड़तोड़ सड़क परियोजनाओं का ऐलान करके सियासी जमीन को इतना मजबूत करने में जुट गई है कि राज्य की जनता को लगे कि केंद्र सरकार विकास कर रही है। गौरतलब है कि चुनावी दृष्टि से उत्तर प्रदेश में यूपी की सत्ता तक पहुंचने के लिए भाजपा ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी के करीब हर सप्ताह व्यापक दौरे कर रहे हैं जो चुनावों की घोषणा यानि चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले ज्यादा से जयादा संसदीय क्षेत्रों में जाकर ताबड़तोड़ सड़क परियोजनाओं के शिलान्यास करने में जुटे हैं।
सूत्रों के अनुसार देशभर में मोदी सरकार सड़कों के निर्माण के लिए एक के बाद एक परियोजनाओं की शुरूआत करती आ रही है। लिहाजा यूपी मिशन में ऐसी परियोजनाओं को चुनावी रणनीति का हिस्सा बनाकर यूपी की जनता को यह भी संदेश दिया जा रहा है कि केंद्र में भाजपा ने सत्ता संभालने के बाद अकेले उत्तर प्रदेश में ही दो लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा सड़क परियोजनाएं पूरी करने का फैसला किया है। सूत्रों के अनुसार यही नहीं अन्य विभागों के मंत्रियों को भी संबन्धित परियोजनाओं के लिए यूपी में सक्रिय किया हुआ है। इसके पीछे सरकार और पार्टी का तर्क है कि इन योजनाओं में कोई राजनीति नहीं है, बल्कि केंद्र सरकार यूपी के विकास की जरूरतों को पूरा करके लोकसभा में इस राज्य से मिले जनमत की अपेक्षाओं को पूरा करने का दायित्व निभा रही है।
पटरी पर उतारी कई परियोजनाएं
सड़क परिवहन मंत्राल के सूत्रों के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने यूपी दौरे के दौरान पिछले दिनों वाराणसी में 2500 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजनाओं की आधारशिला रखी है। इसके बाद गोरखपुर, बलिया, लालगंज में 2500 करोड़ रुपये लखनऊ में बाहरी रिंग रोड़ के लिए 5200 करोड़ रुपये की परियोजना शुरू की है। अब कल गुरुवार यानि 29 सितंबर को गडकरी यूपी के संभल, पीलीभीत, बुलंदशहर, बरेली, मेरठ, शाहजहांपुर को सड़क परियोजनाओं की आधारशिला रखकर विकास की सौगात देंगे। वहीं केंद्रीय सड़क मंत्रालय के एनएचएआई ने लखनऊ से सुल्तानपुर खंड पर 2845 करोड़ रुपये लागत वाली 127 किमी लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग को चार लेन में तब्दील करने की योजना को पटरी पर उतार दिया है। जबकि पिछले दो माह से सड़क परियोजनाओं के शिलान्यास का सिलसिला जारी है।
चुनावी घोषणा तक चलेगा अभियान
सूत्रों के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी अक्तूबर के पहले सप्ताह में आगरा, इटावा, कानपुर, अलीगढ़, फिरोजाबाद में सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे, तो दूसरे सप्ताह में गाजीपुर, इलाहाबाद, महाराजगंज के इलाकों को जोड़ने वाली सड़क परियोजनाओं के काम की शुरूआत की जाएगी। इससे अगले सप्ताही झाँसी, चित्रकूट का दौरा करके सड़क परियोजनाओं की शुरूआत करेंगे। बताया जा रहा है कि भाजपा की इस रणनीति में सड़क परियोजनाओं का यह सिलसिला चुनाव आयोग द्वारा चुनावों की तिथियां घोषित करने तक जारी रहेगा। गौरतलब है कि इसके बाद यूपी में चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी और कोई भी राजनीतिक दल किसी योजना की शुरूआत नहीं कर सकेगा। लेकिन भाजपा इन परियोजनाओं की आधारशिला रखने का बखान चुनावी प्रचार सभाओं में करके वोटरों को आकर्षित जरूर करने में सक्षम होगी।
Next Story
Top