Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साल 2100 तक सूख जाएंगी नदियां, जानिए ऐसा क्यों कह रहा है रिसर्च

हिमालय को लेकर हुए एक ताजा अध्ययन के मुताबिक अगर जलवायु परिवर्तन को काबू में रखने वाले मौजूदा कदम असफल रहते हैं तो सन 2100 तक हिमालय के दो- तिहाई ग्लेशियर पिघल जाएंगे।

साल 2100 तक सूख जाएंगी नदियां, जानिए ऐसा क्यों कह रहा है रिसर्च
X

हिमालय को लेकर हुए एक ताजा अध्ययन के मुताबिक अगर जलवायु परिवर्तन को काबू में रखने वाले मौजूदा कदम असफल रहते हैं तो सन 2100 तक हिमालय के दो- तिहाई ग्लेशियर पिघल जाएंगे।

इसकी वजह से नदियों में पानी तेजी से घट जाएगा और वे सूख जाएंगी। जिसका बुरा असर हिमालय में रहने वाले 25 करोड़ पहाड़ी लोग और इसी के साथ 165 करोड़ ऐसे लोग जो हिमालय के आसपास रहते हैं, उन पर पड़ेगा।

इन देशों पर पड़ेगा असर

हिंदुकुश हिमालय इलाका 3500 किलोमीटर तक फैला हुआ है। यह पहाड़ अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, चीन, इंडिया, म्यांमार, नेपाल और पाकिस्तान में फैले हुए हैं। हिमालय से 10 नदियां गंगा, सिंधु, येलो रिवर, इरावती मेकॉन्ग, ब्रह्मपुत्र, सतलुज, व्यास, रावी जैसी बड़ी नदियां हैं। अगर हिमालय के ग्लेशियर सूख जाएंगे तो इन नदियों में 12 महीने पानी नहीं रहेगा।

2018 धरती का चौथा सबसे गरम साल रहा

वहीं दूसरी ओर नासा एवं नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन के विश्लेषणों में यह पाया गया कि वैश्विक तापमान को जब से रिकॉर्ड किया जा रहा है तब से 2018 में धरती का वैश्विक सतह तापमान चौथा सबसे गर्म तापमान रहा। आकलन में पाया गया कि 2018 में धरती का तापमान 20वीं सदी के औसत से 0.79 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story