Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रीता अपने परिवार के इतिहास को दोहरा रही हैं: राज बब्बर

रीता बहुगुणा जोशी गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गई हैं।

रीता अपने परिवार के इतिहास को दोहरा रही हैं: राज बब्बर
नई दिल्ली. यूपी कांग्रेस की दिग्गज नेता रहीं रीता बहुगुणा जोशी के गुरुवार को बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस उनपर हमलावर हो गई है। बीजेपी में शामिल होने के कुछ देर बाद ही यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने रीता पर पलटवार करते हुए उन्हें 'दगाबाज' करार दिया। राज बब्बर ने कहा,'रीता के जाने से पार्टी पर कोई असर नहीं होगा। इनके भाई भी उत्तराखंड में बीजेपी में शामिल हुए लेकिन वहां कांग्रेस को कोई फर्क नहीं पड़ा। इनकी पीढ़ी में ये चौथा-पांचवां बदलाव है। रीता इतिहास की प्रफेसर हैं शायद इसीलिए वह अपने परिवार के इतिहास को दोहरा रहीं हैं।'
रीता के राहुल गांधी के खून की दलाली वाले बयान पर बब्बर ने कहा कि दरअसल लोगों ने राहुल गांधी की बात का मतलब नहीं समझा। राहुल की संवेदना को कोई समझ नहीं पाया। बब्बर ने उल्टे रीता पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस ने उन्हें दो बार यूपी प्रदेश अध्यक्ष बनाया तब भी वह पार्टी के साथ दगाबाजी कर गईं।इससे पहले रीता बहुगुणा जोशी को बीजेपी में शामिल हो गईं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई गई। इस मौके पर रीता ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर जहां पीएम मोदी की खूब तारीफ की, वहीं 'खून की दलाली' वाले बयान को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को जमकर कोसा।
बीजेपी में शामिल होने के बाद रीता ने कहा, 'मैंने आज ही कांग्रेस और विधायक पद से इस्तीफा दिया है। राष्ट्रहित और प्रदेश हित में यह फैसला किया। 28 साल की राजनीति में से 24 साल मैं कांग्रेस में रही। पिछले दिनों की कुछ घटनाओं से मैं आहत थी। आतंकवाद से भारत संघर्ष कर रहा है, ऐसे में मोदी सरकार ने बहुत सराहनीय काम किया। पूरे राष्ट्र की तरह मैं भी बहुत खुश हुई। कुछ दलों के पीछे चलकर कांग्रेस पार्टी ने इस पर सवाल किए। प्रमाण मांगा गया, खून की दलाली की बात कही गई। इससे मैं बहुत दुखी हुई। हमने इससे दूसरों को मौका दिया कहने का कि भारत की राष्ट्रीय पार्टी ही साथ नहीं है। मैंने ट्विटर पर दुख भी जाहिर किया था। राष्ट्रीय हित में मतभेद रखना ठीक नहीं।'
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top