Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Republic Day 2019: पहली गणतंत्र दिवस परेड कहां हुई थी, कौन थे पहले मुख्य अतिथि- जानें सबकुछ

भारत (India) की राजधानी दिल्ली (Delhi) के राजपथ (Rajpath) पर प्रति वर्ष 26 जनवरी (26 January) को गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाता है। इस बार 26 जनवरी को भारत अपना 70वां गणतंत्र दिवस (70th Republic Day) मनाने जा रहे है।

Republic Day 2019: पहली गणतंत्र दिवस परेड कहां हुई थी, कौन थे पहले मुख्य अतिथि- जानें सबकुछ

गणतंत्र दिवस 2019 (Republic Day 2019) 26 जनवरी 2019 (26 January 2019)

भारत (India) की राजधानी दिल्ली (Delhi) के राजपथ (Rajpath) पर प्रति वर्ष 26 जनवरी (26 January) को गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाता है। इस बार 26 जनवरी को भारत अपना 70वां गणतंत्र दिवस (70th Republic Day) मनाने जा रहे है। दिल्ली में गणतंत्र दिवस 2019 परेड (Republic Day 2019 Parade) की तैयारियां जोरो से चल रही हैं। इस दिन भारत (India) के राष्ट्रपति (Rashtrapati) से प्रधानमंत्री (Prime Minister) तक इंडिया गेट (India Gate) पर शहीद जवानों को सलामी देते हैं। भारती की जल सेना (Indian Navy), थल सेना (Indian Army) और वायु सेना (Air Force) के जवान करतब दिखाते हैं। साथ ही सेना का शक्ति प्रदर्शन भी होता है। दिल्ली में भव्य रूप से सूरज की किरणों के साथ परेड निकाली जाती है।

26 जनवरी 1950 (26 January 1950) को भारतीय इतिहास (Indian History) में इस दिन भारत का संविधान (Constitution of India) लागू हुआ था। 26 जनवरी यह तारीख इतिहास के पन्नों में दर्ज है। क्या आपको मालूम है कि पहली गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) कहां हुई थी और पहले मुख्य अतिथि कौन थे। चलिए तो हम आपको बताते हैं...

कहां हुई थी पहली गणतंत्र दिवस परेड

अगर किसी से पूछा जाए कि गणतंत्र दिवस पर पहली परेड कहां पर हुई थी। तो अधिक्तर लोगों का यही जवाब होगा कि राजपथ पर, लेकिन यह जवाब गलत है।क्योंकि दिल्ली में 26 जनवरी, 1950 को पहली गणतंत्र दिवस परेड, राजपथ पर न होकर इरविन स्टेडियम में हुई थी। इरविन स्टेडियम आज नेशनल स्टेडियम है।

लेकिन उस समय इरविन स्टेडियम की चार दिवारी नहीं थी। जिस वजह से पुराना किला साफ दिखता था। 1954 तक देश की राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस का समारोह, किंग्सवे कैंप, इरविन स्टेडियम, लाल किला और रामलीला मैदान में आयोजित हुआ करता था। गणतंत्र परेड को देखने के लिए 15,000 लोग पहुंचे थे।

बता दें कि परेड का सिलसिला अब तक चला आ रहा है। गणतंत्र दिवस के मौके पर परेड रायसीना हिल से शुरू होकर जनपथ, इंडिया गेट से गुजरती हुई लाल किले पर समाप्त हो जाती है। यह परेड 8 किमी की दूरी तय करती है।

परेड में सशस्त्र सेना के तीनों बलों ने हिस्सा लिया था। परेड में नेवी, इन्फेंट्री, कैवेलेरी रेजीमेंट, सर्विसेज रेजीमेंट के अलावा सेना के 7 बैंड भी शामिल हुए थे।

पहले गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत के पहले गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो थे। बता दें कि साल 2018 में इंडोनेशिया के राष्ट्रपति राष्ट्रपति जोको विदोदो भी मुख्य अतिथि थे।

Share it
Top