Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

किसी नौकरीपेशा से ढ़ाई गुना ज्यादा काम करती है बच्चों वाली महिलाएं, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आपके घर में या आसपास अगर कोई छोटा बच्चा है तो जरा गौर करिएगा कि उसकी मां दिन भर में कितनी देर आराम करती है या फिर अपने लिए कितना समय निकाल पाती है।

किसी नौकरीपेशा से ढ़ाई गुना ज्यादा काम करती है बच्चों वाली महिलाएं, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आपके घर में या आसपास अगर कोई छोटा बच्चा है तो जरा गौर करिएगा कि उसकी मां दिन भर में कितनी देर आराम करती है या फिर अपने लिए कितना समय निकाल पाती है।

बच्चे की नैपकिन बदलना, अस्त-व्यस्त दिनचर्या होना, अपनी सेहत का भी ध्यान रखना, मां होना आसान काम नहीं है। बच्चे को पालना किसी फुल टाइम जॉब से कम नहीं है। एक रिसर्च में तो यहां तक सामने आया है कि मां का काम किसी नौकरी में करने वाले काम के मुकाबले ढाई गुना ज्यादा होता है।

इस रिसर्च के अनुसार एक मां बच्चे की देखभाल में 98 घंटे प्रति सप्ताह काम करती है। इस अमेरिकी सर्वे में 5 से 12 साल की उम्र के बच्चे की 2 हजार मांओं को शामिल किया गया और इसके परिणाम हैरान करने वाले रहे।

यह भी पढ़ें- अजमेर: IAS टॉपर टीना डाबी अस्पताल में भर्ती, डॉक्टरों ने बताई ये समस्या

एक आम दिन में मां औसतन सुबह 6:23 बजे से रात 8:31 बजे तक बच्चे के लिए काम करती रहती है। इसे तोड़ा जाए तो यह 7 दिन में 14 घंटे की शिफ्ट के बराबर का काम हुआ। यह किसी भी सामान्य जॉब के मुकाबले कहीं ज्यादा है।

कभी न खत्म होने वाली सूची से दबाव में मांएं

अमेरिका के एक जूस ब्रैंड द्वारा कराए गए इस रिसर्च के मुताबिक एक मां एक दिन में औसतन 1 घंटा 7 मिनट का समय ही अपने लिए निकाल पाती है। स्टडी में यह भी पता चला कि 40% मांएं अपनी जिंदगी कभी न खत्म होने वाले टु-डू लिस्ट के दबाव में गुजारती हैं।

यह भी पढ़ें- दक्षिण अफ्रीका की कोर्ट ने गुप्ता परिवार के विमान के परिचालन पर लगाई रोक

यह कोई पहला रिसर्च नहीं है जिसमें मां की जिंदगी की कठिनाइयां सामने आई हों। इससे पहले 2013 में हुए एक सर्वे में सामने आया था कि एक मां के टु-डू लिस्ट में लगभग 26 टास्क होते हैं।

इनमें स्नैक्स की व्यवस्था करना, नाश्ता बनाना और जरूरी अपॉइंटमेंट्स याद रखना महत्वपूर्ण है। जाहिर है, मां का काम सबसे बड़ा तो है ही, सबसे मुश्किल भी है।

(भाषा- इनपुट)

Next Story
Top