Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

3 सालों के रिपोर्ट कार्ड में कमजोर रहे मोदी के ये मंत्री

भरष्टाचार ख़तम करने, काले धन को वापस लाने, ''अच्छे दिन'', नए रोज़गार, स्वच्छ भारत और आधुनिक भारत जैसे कई वायदे के साथ सत्ता में आए नरेंद्र मोदी की सरकार ने आज तीन साल पूरे कर लिए हैं।

3 सालों के रिपोर्ट कार्ड में कमजोर रहे मोदी के ये मंत्री
X

आज से ठीक तीन साल पहले नरेंद्र दामोदर दास मोदी ने भारत के 15 वे प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

भरष्टाचार ख़तम करने, काले धन को वापस लाने, 'अच्छे दिन', नए रोज़गार, स्वच्छ भारत और आधुनिक भारत जैसे कई वायदे के साथ सत्ता में आए नरेंद्र मोदी की सरकार ने आज तीन साल पूरे कर लिए हैं।

मोदी सरकार के तीन साल पूरे करने के बाद क्या मोदी जनता वाली ये सरकार क्या इन तीन सालों में जनता की उम्मीदों पर खरी उतर पाई।

हालांकि मोदी की लोकप्रियता में कोई शक नहीं है, शहरी मध्यवर्गीय बहुसंख्यकों के बीच मोदी बरकरार है, इन तीन सालों में मोदी के नेतृत्व में दिल्ली, पंजाब और बिहार में हार मिली है तो यूपी में भारी जीत मिली है।

लेकिन मोदी कैबिनेट में कुछ मंत्री ऐसे भी है जिनका कार्यकाल अपेक्षाकृत कम सफल रहा है।

आज हम आपको बता रहे है मोदी के तीन मंत्रियों के बारे में जिनका कार्यकाल अपेक्षाकृत कम सफल रहा।

* स्मृति ईरानी

मंत्री बनने के बाद से ही स्मृति ईरानी काफी विवादों में रही है। अपने तेज तर्रार तेवरों के लिए जनि जाने वाली ईरानी का पला विवादों से मानव संसाधन मंत्री बनने के साथ ही पड गया था। ईरानी काफी समय तक अपनी डिग्री को लेकर विवादों में रही। जब डिग्री विवाद से निकली तब हैदराबाद यूनिवर्सिटी के कथित दलित छात्र की आत्महत्या से फिर विवादों में आ गई।

स्मृति ईरानी पर ये आरोप भी लगे कि मानव संसाधन मंत्री रहते वो इन मामलो से ठीक से नहीं निपट पाई। शायद इसी लिए उन्हें अपना मंत्रालय भी गंवाना पडा।

* गिरिराज सिंह

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अक्सर विवादों में रहे है। कुछ समय पहले चित्तोड़ में फील पद्मावती की शूटिंग के विवाद के समय भी उन्होंने कहा था कि चित्तौड़ की रानी पद्मावती हिंदू थीं, इसलिए उनके किरदार के साथ छेड़छाड़ की जा रही है। अक्सर विवादों में रहे है। कुछ समय पहले चित्तोड़ में फील पद्मावती की शूटिंग के विवाद के समय भी उन्होंने कहा था कि चित्तौड़ की रानी पद्मावती हिंदू थीं, इसलिए उनके किरदार के साथ छेड़छाड़ की जा रही है।

* सुरेश प्रभु

वैसे तो रेल मंत्री सुरेश प्रभु विवादों में कम ही रहते है। लेकिन लगातार हो रहे रेल हादसों की वजह से वो अक्सर विपक्ष के निशाने पर रहते है। सुरेश प्रभु के कार्यकाल में इंदौर पटना एक्सप्रेस में एक बड़ा हादसा हुआ था। हालांकि बाद में उसमे आतंकियों का हाथ होने की बात भी सामने आई थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story