Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

‘ब्लू व्हेल'' गेम को रोकने के लिए IT मंत्रालय ने इंटरनेट कंपनियों दी आखिरी चेतावनी

गूगल, फेसबुक समेत सभी कंपनियों ने दिया ब्लू व्हेल गेम रोकने का भरोसा।

‘ब्लू व्हेल

जानलेवा ब्लू व्हेल चैलेंज एक ऐसा गेम है जिसमें फंस जाने के बाद इंसान का निकलना मुश्किल हो जाता है। भावनाओं में बह जाने वाले युवाओं के लिए ये गेम काफी घातक है। देशभर में नौजवान लगातार इस गेम के जाल में फंसकर सुसाइड कर रहे हैं।

जानलेवा ब्लू व्हेल चैलेंज गेम को रोकने के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इंटरनेट कंपनियों से व्हेल नाम से जुड़े गेम और एप्लीकेशन को प्लेटफार्म से तत्काल हटाने को कहा है। साथ ही मासूमों को जानलेवा गेम से दूर रखने के लिए हर संभव कदम उठाने को कहा गया है।

आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद के निर्देश पर मंत्रालय के शीर्ष अधिकरियों ने 'ब्लू व्हेल' गेम को हटाने के लिए कंपनियों द्वारा उठाए गए कदमों की समीक्षा की। गूगल, फेसबुक और व्हाट्सअप समेत अन्य ने सरकार को इस मामले में उपचारात्मक कदम उठाने का आश्वासन दिया है।

बता दें आईटी मंत्री ने ब्लू व्हेल मामले में अगस्त में टेक कंपनियों को निर्देश जारी करने के बाद उनके प्लेटफार्म पर लिंक मिलने की स्थिति में कदम उठाए जाने की चेतावनी दी थी। हालांकि जानलेवा गेम से मौतों का सिलसिला नहीं रूका, जिसके चलते मंत्रालय कंपनियों को साथ लेकर आगे बढ़ रहा है।

हाल ही में सरकार के साथ हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में इन कंपनियों से इस जानलेवा खेल को रोकने में पूरी ताकत लगाने को कहा गया है। क्योंकि मासूम बच्चे 'ब्लू व्हेल' गेम के चलते जान गवां रहे हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक चूंकि गूगल सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन है इसलिए वह वेब जाल के अथाह भंडार में इस खेल तक पहुंचने के वैकल्पिक रास्तों की तलाश आसानी से कर सकता है।

आईटी विशेषज्ञ ने कहा सरकार जागरूकता अभियान

आईटी विशेषज्ञ रामानुज पांडेय के मुताबिक सरकार को लिंक, एप्लीकेशन और ऑनलाइन गेम पर रोक लगाने के साथ जागरूकता के लिए कदम उठाने चाहिए। इंटरनेट में जाने वाली कोई भी सामग्री को पूरी तरह रोक पाना मुमकिन नहीं है। उदाहरण के लिए एक शब्द है वायरल जो वायरस से बनता है। इसका भावार्थ यह है कि जो खुद अकेले भी अपने जैसे और पैदा कर सके।

Next Story
Top