Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रिलायंस जियो ने स्‍पेक्‍ट्रम के लिए 6500 करोड़ का दिया बयाना

यह राशि एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया, टॉप तीनों कंपनियों द्वारा जमा की गई राशि के लगभग बराबर है।

रिलायंस जियो ने स्‍पेक्‍ट्रम के लिए 6500 करोड़ का दिया बयाना
नई दिल्ली. स्पेक्ट्रम की चौथी नीलामी 1 अक्टूबर से शुरू हो रही है। रिलायंस जियो इन्फोकॉम आक्रामक बोली लगाने की तैयारी में है। रिलायंस जियो ने बियाने के रूप में 6500 करोड़ रु. जमा कराए हैं। इससे उम्मीद लगाई जा सकती है कि ये नीलामी में अन्य टेलीकॉम कंपनियों के अनुमान को भी पार कर सकती है।
यह राशि एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया, टॉप तीनों कंपनियों द्वारा जमा की गई राशि के लगभग बराबर है। वोडाफोन ने 2,745 करोड़ रुपए की ईएमडी भरी है। आइडिया सेल्‍यूलर और भारती एयरटेल की तरफ से 1,980 हजार और 2,050 करोड़ रुपए जमा किए जाने की सूचना है। इसके अलावा टाटा टेलिसर्विसेज ने भी 1,000 करोड़ रुपए जमा कराए हैं जबकि रिलायंस कम्यूनिकेशंस और एयरसेल ने 313 करोड़ और 120 करोड़ रुपए जमा कराए हैं।
एक सीनियर अधिकारी ने ईटी से कहा, 'बयाने की रकम के सामान्य आकलन से पता चलता है कि सरकार को सिर्फ रिजर्व प्राइस पर एयरवेव्स की बिक्री से 1.5 लाख करोड़ की कमाई हो सकती है जबकि इससे 55,000 करोड़ रुपए का अग्रिम भुगतान भी होगा।' हालांकि, विश्लेषकों की राय अलग है। उनका कहना है कि सरकार एयरवेव्स की अब तक की सबसे बड़ी बिक्री में 80,000 करोड़ रुपए के करीब कमाएगी।
वित्त मंत्रालय ने टेलिकॉम से 98,995 करोड़ रुपए का रेवेन्यू जुटाने का प्रावधान किया है जिसमें इस वित्तीय वर्ष में 55,000 करोड़ रुपए से भी कम की स्पेक्ट्रम नीलामी भी शामिल है। बाकी रकम पिछले साल की नीलामी से मिलने वाली लेवी और सेवाओं के साथ-साथ बकाए के विभिन्न मद से आने का अनुमान है।
एयरटेल ने आराम से डेटा स्पेक्ट्रम होल्डिंग्स हासिल कर ली। ऐसे में वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर नीलामी के लिए बढ़ती गहमा-गहमी में सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं क्योंकि उनके पास 4G एयरवेव्स खरीदने के अलावा कोई चारा नहीं है। इन फ्रिक्वेंसीज के बिना उनके हाशिए पर चले जाने का खतरा रहेगा क्योंकि लड़ाई अब मोबाइल डेटा के क्षेत्र में छिड़ी है। सर्कल्स के आधार पर वोडाफोन और आइडिया के 4G एयरवेव्स होल्डिंग्स एयरटेल और जियो के आधे से भी कम हैं। सरकार सातों बैंड्स पर 2354.55 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की नीलामी करने जा रही है और पहली बार 700 मेगाहर्ट्ज बैंड्स के लिए भी नीलामी हो रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top