Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिना अस्तित्व के ही Jio Institute बना उत्कृष्ट संस्थान, जानिए कैसे

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा की गई एक घोषणा पूरे देश में बहस का मुद्दा बन गया है। दरअसल सरकार ने देख के उत्कृष्ट संस्थानों की घोषणा की इसमें सरकार ने 6 शिक्षण संस्थानों को इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस का दर्जा दिया और इन संस्थानों में तीन सरकारी और तीन प्राइवेट संस्थान है।

बिना अस्तित्व के ही Jio Institute बना उत्कृष्ट संस्थान, जानिए कैसे
X

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा की गई घोषणा से पूरे देश में बहस का मुद्दा बन गई है। केंद्र सरकार ने देश के उत्कृष्ट संस्थानों की घोषणा की है जिनमें सरकार ने 6 शिक्षण संस्थानों को इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस का दर्जा दिया और इन संस्थानों में तीन सरकारी और तीन प्राइवेट संस्थान है।

प्राइवेट संस्थान में जियो इंस्टीट्यूट को भी उत्कृष्ट संस्थान की श्रेणी मे रखा गया है जोकि अभी तक अस्तित्व में ही नहीं है। इसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय पर सवाल उठने लगे है की जब कोई संस्थान नहीं तो उसे उत्कृष्ट संस्थानों में शामिल क्यों किया गया है।

सरकार क्या कहती है

केंद्र सरकार का कहना है की मानव संसाधन विकास मंत्रालय में इस इंस्टिट्यूट को ग्रीनफील्ड कैटेगरी में शामिल किया गया है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इनमे उन संस्थानों को शामिल किया जाता है जो फिलहाल अभी अस्तित्व में नहीं है लेकिन जल्द ही बनने वाले हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा है कि ईईसी (एमपॉवर्ड एक्सपर्ट कमेटी) ने यूजीसी रेगुलेशन 2017 (क्लॉज 6.1) के आधार पर 11 प्रपोजल प्राप्त किए थे, लेकिन जियो इंस्टीट्यूट मानकों पर खरा उतरा है।

इंस्टीट्यूट ऑफ एमेनंस के तहत इस सूची में शामिल होने वाले संस्थानों की गुणवत्ता को तेजी से बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसका उद्देश्य यह है की इन संस्थानों को विश्व स्टार का बनाया जा सके।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story