Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

केंद्रीय गृह सचिव आरडी प्रधान ने अपनी नई किताब में किया दावा, राजीव के घर में था लिट्टे का जासूस

आरडी प्रधान ने इस बात का खुलासा अपनी किताब ‘माय इयर्स विद राजीव एंड सोनिया’ में किया है।

केंद्रीय गृह सचिव आरडी प्रधान ने अपनी नई किताब में किया दावा, राजीव के घर में था लिट्टे का जासूस
नई दिल्ली. आरडी प्रधान ने अपनी किताब ‘माय इयर्स विद राजीव एंड सोनिया’ में लिखा है, वर्मा और जैन आयोग की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ी, एक नया एंगल सामने आया।
मेरे मन में तो इस बात को लेकर जरा भी शंका नहीं है कि 10 जनपथ में लिट्टे के किसी जासूस ने पहुंच बना ली थी। जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे, उस दौरान आरडी प्रधान डेढ़ साल के लिए केंद्रीय गृह सचिव रहे थे। वह 1998 से 2003 तक एआईसीसी में सोनिया गांधी के ऑफिस के इंचार्ज भी रहे थे। उन्होंने अपनी किताब में इस बात की भी आशंका जाहिर की है कि राजीव गांधी की हत्या से जुड़े सच को सामने आने से रोकने की कोशिश की गई है।
प्रधान लिखते हैं, बहुत से संदिग्ध अरेस्ट हुए और कुछ दोषी भी साबित हुए। ऐसी कोशिशें की गईं कि सच सामने नहीं आना चाहिए। मुझे लगता है कि यह दूर बैठे कुछ प्रभावशाली लोगों की साजिश थी। 10 जनपथ के अंदर से ही किसी शख्स ने जासूस को महत्वपूर्ण सूचना दी। मुझे पूरा यकीन है कि सोनिया गांधी, जो कि उस वक्त 1991 में लोकसभा चुनावों के प्रचार के लिए अमेठी में थीं, भी यही सोचती हैं।
क्या राजीव गांधी की जान बचाई जा सकती थी? टाइटल वाले चैप्टर में लिखा गया है, मेरे ख्याल से तमिलनाडु प्रशासन को लिट्टे के बुरे इरादों की भनक रही होगी। मैं मानता हूं कि इंटेलिजेंस ब्यूरो और तमिलनाडु के गवर्नर बुरी तरह नाकाम रहे हैं। लिट्टे ने एक आत्मघाती बम धमाके के जरिए 21 मई, 1991 को र्शी पेरंबदूर में राजीव गांधी की हत्या कर दी थी।
नीचे की स्‍लाइड्स में पढ़िए, किस बड़े कांग्रेसी नेता ने कही प्रियंका को यूपी में लाने की बात -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top