Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आरकॉम व एयरसेल में हो सकता है विलय, मोबाइल कारोबार को बढ़ने के लिए हुई बातचीत

आरकॉम एयरसेल के शेयरधारकों के साथ बातचीत कर रही है।

आरकॉम व एयरसेल में हो सकता है विलय, मोबाइल कारोबार को बढ़ने के लिए हुई बातचीत
नई दिल्ली. अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) अपने मोबाइल कारोबार का खुद से छोटी प्रतिद्वंद्वी कंपनी एयरसेल के साथ विलय करने के लिए बातचीत कर रही है। रिलायंस कम्युनिकेशंस ने कहा कि आरकॉम ने मैक्सिस कम्यूनिकेशंस बरहाद और एयरसेल लिमिटेड की हिस्सेदार सिंद्या सिक्युरिटीज एंड इन्वेस्टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ आरकॉम तथा एयरसेल के भारतीय वायरलेस व्यवसाय के संभावित विलय पर विचार के लिए 90 दिन की विशिष्ट अवधि पर सहमति हुई है।
एमटीएस से भी विलय की प्रक्रिया
आरकॉम इससे पहले सिस्तेमाल श्याम टेलीसर्विसेज के भारतीय मोबाइल टेलीफोनी कारोबार के विलय की प्रक्रिया में है जो एमटीएस ब्रांड के तहत कारोबार करती है। सूत्रों ने बताया कि आरकॉम के नेतृत्व में बनने वाली नई कंपनी के तहत - आरकॉम, एमटीएस और एयरसेल - इन तीनों के मोबाइल कारोबार का एक साथ परिचालन करने का प्रस्ताव है। नई कंपनी पूरी तरह से इक्विटी सौदे के जरिए तैयार की जाएगी जिसमें आरकॉम के शेयरधारकों को हर एक शेयर के बदले तीन शेयर मिलने की उम्मीद है।
विलय से लाभ हासिल होगा
बयान में कहा कि इसका लक्ष्य है घरेलू विलय से अनुमानित उल्लेखनीय लाभ हासिल करना जिसमें परिचालन व्यय और पूंजी व्यय ताल-मेल और राजस्व वृद्धि शामिल है। कंपनी ने कहा, 'यह बातचीत बाध्यकारी नहीं है। कोई भी सौदा देनदारियों एवं परिसंपत्तियों की जांच, निश्चयात्मक दस्तावेजीकरण और नियामकीय मंजूरी, शेयरधारकों और अन्य तृतीय पक्ष की स्वीकृति से होगा। इसलिए कोई निश्चितता नहीं है कि कोई सौदा होगा।'
टावर कारोबार बेचेगा आरकॉम
आरकॉम ने चार दिसंबर को कहा था कि उसने अपने सेल्यूलर टावर कारोबार करीब 30,000 करोड़ रुपए में बेचने के लिए निजी इक्विटी कंपनी टिलमैन ग्लोबल होल्डिंग्स एलएलसी और टीपीजी एशिया इंक के साथ समझौता किया है ताकि ऋण कम किया जा सके।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top