Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

क्या है रिजर्व बैंक और कैसे करता है काम, एक क्लिक में जानिए सब कुछ

भारतीय रिजर्व बैंक के 24वें गवर्नर उर्जित पटेल ने अचानक इस्तीफा दे दिया। उन्होंने जिस बैंक से इस्तीफा दिया है वह कोई ऐसा वैसा बैंक नहीं है। वह बैंकों कै भी बैंक है। आइए जानते हैं कैसे काम करता है आरबीआई। साथ ही आरबीआई से जुड़ी खास बातें।

क्या है रिजर्व बैंक और कैसे करता है काम, एक क्लिक में जानिए सब कुछ

भारतीय रिजर्व बैंक के 24वें गवर्नर उर्जित पटेल ने अचानक इस्तीफा दे दिया। उन्होंने जिस बैंक से इस्तीफा दिया है वह कोई ऐसा वैसा बैंक नहीं है। वह बैंकों कै भी बैंक है। आइए जानते हैं कि आरबीआई कैसे काम करता है। साथ ही आरबीआई से जुड़ी खास बातें।

  • RBI बैंकिग से जुड़े अन्य कामो को संचालित करता है। इसी कारण इसे बैंकों का बैंक कहा जाता है।
  • भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल, 1935 को हिल्टन यंग कमिशन की रिपोर्ट के आधार पर की गई थी।
  • आरबीआई को मिली शक्ति के हिसाब से वह 1000 रुपये के सिक्के से 10000 रुपये के नोट तक को छाप सकता है।
  • पहले रिजर्व बैंक का गठन एक निजी संस्था के रूप में किया गया था लेकिन अब यह एक सरकारी संस्था है। केंद्रीय बैंक का राष्ट्रीयकरण साल 1949 तक नहीं हो पाया था।
  • रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया नोटों की छपाई करता है। जबकि सिक्कों को बनाने का काम भारत सरकार करती है।
  • रिजर्व बैंक ने 5000 और 10000 रुपये के मूल्य के नोटों की छपाई साल 1938 में की थी। इसके बाद 1954 और 978 में भी इन नोटों को दोबारा छापा गया था।
  • आजकल बैंको के द्वारा सिक्के न लेने की शिकायते कुंछ ज्यादा ही बढ़ गई हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि आप बैंक को जितना मर्जी चाहें सिक्का दे सकते हैं। बैंक या तो उसी मूल्य के बराबर का धन आपके खाते में डालेगा या फिर उस मूल्य के बराबर का नोट आपको देगा।
  • RBI के देश भर में 29 ऑफिस हैं। ज्यादातर ऑफिस राज्यों की राजधानी में है।
  • पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह RBI के गवर्नर भी रह चुके हैं। वह इकलौते ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो गवर्नर भी रह चुके हैं।
  • हर नोट पर गवर्नर का हस्ताक्षर होता है। वह इसलिए जरूरी होता है क्योंकि बैंकिग सिस्टम में गवर्नर उस काकज के टुकड़े को एक धन के रूप में स्वीकार होने की गारंटी देता है।
  • सरकार हर नोट को छपवाने के लिए उसके बराबर सोना या संपत्ति RBI के पास जमा करती है। तब RBI उसके मूल्य के बराबर नोट छापती है।
Next Story
Share it
Top