Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

RBI ने किया मॉनिटरी पॉलिसी का ऐलान, नहीं घटाया ब्याज दर

इसके साथ ही एलएएफ के तहत रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं हुआ है।

RBI ने किया मॉनिटरी पॉलिसी का ऐलान, नहीं घटाया ब्याज दर

भारतीय रिजर्व बैंक ने अगले दो महीनों के लिए अपनी मौद्रिक नीति का ऐलान कर दिया है। इसमें ये तय हुआ है कि लिक्विड एडजेस्मेंट की सुविधा के तहत पॉलिस रेपो रेट की दर नहीं बदली जाएगी। ये 6 प्रतिशत पर ही रहेगा।

इसके साथ ही एलएएफ के तहत रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं हुआ है। ये 5.75 प्रतिशत रहेगी और मार्जिनल स्टैंडिग फेसेलिटी तथा बैंक रेट 6.25 रहेंगे।
गौरतलब है कि आरबीआई ने विकास दर के अनुमान में भी इस बार कोई बदलाव नहीं किया है। इसे 6.7 प्रतिशत पर रखा गया है। बता दें कि महंगाई के अनुमान आरबीआई ने बदल दिए हैं। ये 4.3 से 4.7 हो गया है।
बता दें कि रेपो रेट में कोई बदलाव न होने से सस्ते कर्ज का इंतजार अभी खत्म नहीं होगी। अगली मौद्रिक नीति समिति फरविरी में होनी है।

क्या होता है रेपो रेट
जब बैंकों के पास पैसों की कमी हो जाती है, तो वे आरबीआई से लोन लेते हैं। उन्हें यह लोन एक फिक्स रेट पर आरबीआई की तरफ से दिया जाता है। यही रेट रेपो रेट कहलाता है। रेपो रेट हमेशा आरबीआई ही तय करता है। महंगाई को काबू में करने के लिए रेपो रेट बढ़ा दिया जाता है जिससे बैंक आरबीआई से ज्यादा कर्ज नहीं ले पाते क्योंकि वो महंगा हो जाता है। इससे अर्थव्यवस्था में मनी सप्लाई कम हो जाती है।
Share it
Top